पहली बार चखा जीत का स्‍वाद
तिरुवनंतपुरम के ग्रीनफील्‍ड स्‍टेडियम में भारत ने कीवियों को 6 रन से करारी शिकस्‍त देकर सीरीज अपने नाम कर ली। बारिश प्रभावित यह मैच काफी रोमांचक रहा लेकिन अंत में जीत भारत के खाते में आई। इस जीत के साथ ही भारत ने केरल में कोई भी इंटरनेशनल मैच जीतने का खाता भी खोल लिया। यह पहला मौका है, जब केरल में खेले गए किसी मैच में भारत विजयी हुआ।
केरल में पिछली बार जब भारत खेला,तब कोहली पैदा नहीं हुए थे और कप्‍तान थे रवि शास्‍त्री
29 साल पहले यहां भारत को मिली थी हार
पिछली बार भारत ने केरल के त्रिवेंद्रम (अब तिरुवनंतपुरम) में साल 1988 में वनडे मैच खेला था। इसके बाद 29 साल तक केरल में कोई इंटरनेशनल मैच नहीं हुआ। उस वक्‍त वेस्‍टइंडीज टीम भारत दौरे पर थी। भारत और वेस्‍टइंडीज के बीच त्रिवेंद्रम के यूनिवर्सिटी मैदान पर एकदिवसीय मैच खेला गया। उस वक्‍त भारतीय टीम के कप्‍तान रवि शास्‍त्री थे जो फिलहाल भारत के कोच हैं। उस मैच में भारत ने पहले खेलते हुए 239 रन बनाए थे, श्रीकांत ने शानदार शतक लगाया था। वेस्‍टइंडीज ने एक विकेट खोकर यह लक्ष्‍य हासिल कर लिया और भारत 9 विकेट से हार गया।
केरल में पिछली बार जब भारत खेला,तब कोहली पैदा नहीं हुए थे और कप्‍तान थे रवि शास्‍त्री
हार के समय थे कप्‍तान, कोच बने तो मिली जीत
वेस्‍टइंडीज ने जिस भारतीय टीम को हराया उसकी कमान रवि शास्‍त्री के हाथों में थी। रवि ने इस हार का बदला अब जाकर लिया। हालांकि वह कप्‍तान तो नहीं कोच जरूर हैं। शास्‍त्री ने वो मैच 25 जनवरी 1988 में खेला था तब विराट कोहली पैदा भी नहीं हुए थे। खैर 7 नवंबर 2017 को कोहली ने उस पुरानी हार को सुधारते हुए भारत को जीत का तोहफा दिया।
केरल में पिछली बार जब भारत खेला,तब कोहली पैदा नहीं हुए थे और कप्‍तान थे रवि शास्‍त्री

Cricket News inextlive from Cricket News Desk