प्‍लेइंग इलेवन में हो सकता है बदलाव
साउथ अफ्रीका के खिलाफ भारतीय टीम जब केपटाउन टेस्‍ट खेलने उतरी, तो टीम में वो नाम थे जिसके बारे में किसी ने सोचा नहीं था। रोहित शर्मा को प्‍लेइंग इलेवन में खिलाना आश्‍चर्यजनक फैसला था। हालांकि इसका टीम को फायदा भी नहीं हुआ क्‍योंकि रोहित पहले टेस्‍ट में कुछ खास नहीं कर पाए। ऐसे में अब अजिंक्‍य रहाणे को टीम में वापस लाने की चर्चा शुरु हो गई। रहाणे का विदेशी पिचों पर टेस्‍ट रिकॉर्ड काफी बेहतर है। ऐसे में जब वह 15 सदस्‍यीय टीम में शामिल हैं, तो क्‍यों न उन्‍हें अंतिम एकादश में शामिल किया जाए।

बेंच स्‍ट्रेंथ को आजमा सकता है भारत
पहला टेस्‍ट जब चार दिन में खत्‍म हो गया, ऐसे में भारत के पास प्रैक्‍टिस के लिए एक दिन ज्‍यादा मिल गया। मंगलवार को प्रैक्‍टिस सेशन में भारत ने बेंच पर बैठे खिलाड़ियों को वार्मअप करवाया। इसमें अजिंक्‍य रहाणे, लोकेश राहुल और ईशांत शर्मा शामिल हैं। दाएं हाथ के होनहार बल्‍लेबाज लोकेश राहुल को भी अंतिम 11 में शामिल करने की बात चल रही है। खैर आखिरी फैसला कप्‍तान को लेना है। इतना तय है कि अगर रहाणे और राहुल टीम में वापस आते हैं भारत की बल्‍लेबाजी मजबूत होगी। वहीं कप्‍तान कोहली को भी पहला मैच भुलाकर अपनी फॉर्म में वापस लौटना होगा।


द.अफ्रीका में अजिंक्‍य रहाणे का प्रदर्शन
टीम इंडिया के लिए ओपनिंग करने वाले दाएं हाथ के बल्‍लेबाज अजिंक्‍य रहाणे को पहला टेस्‍ट न खिलाना सबसे बड़ी गलती रही। रहाणे एक ऐसे बल्‍लेबाज हैं जिनका विदेशी धरती पर खूब बल्‍ला चलता है। अजिंक्य रहाणे का दक्षिण अफ्रीकी धरती पर 69.66, ऑस्ट्रेलिया में 57.00, वेस्टइंडीज में 121.50 और न्यूजीलैंड की पिचों पर 54.00 का औसत रहा है। ऐसे में उनके पुराने प्रदर्शन को नजरअंदाज करते हुए टीम से बाहर बिठालना भारतीय टीम पर भारी पड़ गया।

Cricket News inextlive from Cricket News Desk