कोहली के हाथ से निकल गई सीरीज
विराट कोहली की कप्‍तानी में भारत पिछली 9 टेस्‍ट सीरीज लगातार जीतता आया है। कोहली का इरादा था कि वह 10वीं टेस्‍ट सीरीज जीत कर विश्‍व रिकॉर्ड बनाएंगे। मगर ऐसा न हो सका। पहले केपटाउन फिर सेंचुरियन दोनों टेस्‍ट भारत के हाथ से निकल गए। कोहली एंड टीम तीन मैचों की सीरीज में 0-2 से पिछड़ गई। मैच तो गया साथ ही 25 सालों से सीरीज जीत का सपना भी चकनाचूर हो गया। कोहली से पहले 5 भारतीय कप्‍तान इसी उम्‍मीद के साथ अफ्रीका गए थे लेकिन आज तक कोई नहीं जीत पाया।
ind vs sa : जो काम भारत के ये 5 कप्‍तान नहीं कर पाए,कोहली भी उसमें फेल हो गए
1992 में पहला टूर, कप्‍तान थे अजहरुद्दीन
भारत पहली बार साल 1992 में द.अफ्रीका दौरे पर गया था। तब भारतीय टीम के कप्‍तान मो. अजहरुद्दीन थे। भारत को यहां 4 मैचों की टेस्‍ट सीरीज खेलनी थी। अपने पहले ही दौरे में भारत को करारी हार झेलनी पड़ी थी। भारत यह सीरीज 0-1 से हार गया था, बाकी तीन मैच ड्रा रहे थे।

25 सालों में 6 बार गए साउथ अफ्रीका खेलने, हर बार भारत को मिली ऐसे हार

ind vs sa : जो काम भारत के ये 5 कप्‍तान नहीं कर पाए,कोहली भी उसमें फेल हो गए
1996 में दूसरा टूर, कप्‍तान थे सचिन तेंदुलकर
पहला दौरा करने के बाद भारतीय टीम 4 साल तक साउथ अफ्रीका खेलने नहीं गई। साल 1996 में कप्‍तान सचिन तेंदुलकर की अगुआई में भारतीय टीम को दोबारा द.अफ्रीका में टेस्‍ट सीरीज खेलने का मौका मिला। इस बार 3 मैचों की टेस्‍ट सीरीज रखी गई। उस वक्‍त भारतीय टीम में कई दिग्‍गज खिलाड़ी थे,लेकिन कोई भी टीम को जीत नहीं दिला सका। भारत 2-0 से सीरीज हार गया।
ind vs sa : जो काम भारत के ये 5 कप्‍तान नहीं कर पाए,कोहली भी उसमें फेल हो गए
2001 में तीसरा टूर, कप्‍तान थे सौरव गांगुली
साल 2001 में भारत तीसरी बार साउथ अफ्रीका दौरे पर गया। इस बार भारतीय टीम की कमान संभाली सौरव गांगुली ने। धोनी और कोहली से पहले भारत के सबसे सफल कप्‍तान गांगुली ही थे। लेकिन गांगुली का जादू द.अफ्रीका में नहीं चला। भारत ने 2 मैच की टेस्‍ट सीरीज खेली जिसे मेहमान टीम ने 1-0 से जीत लिया, भारत को इस बार भी निराशा हाथ लगी।

जिसके नाम में ही लुंगी है, उसी गेंदबाज ने भारतीय बल्‍लेबाजों को सेंचुरियन में कराया 'लुंगी' डांस

ind vs sa : जो काम भारत के ये 5 कप्‍तान नहीं कर पाए,कोहली भी उसमें फेल हो गए
2006 में चौथा टूर, कप्‍तान थे राहुल द्रविड़
1992 से लेकर चला आ रहा जीत का सूखा साल 2006 में खत्‍म हुआ। जब कप्‍तान राहुल द्रविड़ की अगुआई में भारतीय टीम 3 मैचों की टेस्‍ट सीरीज खेलने द.अफ्रीका गई। सीरीज का पहला ही मैच भारत ने 123 रन से जीत लिया। इस मैच में तेज गेंदबाज एस.श्रीसंत ने ऐसी धुआंधार गेंदबाजी की, कोई भी अफ्रीकी बल्‍लेबाज क्रीज पर नहीं टिक सका। हालांकि आखिरी के दो मैच मेजबान टीम के नाम रहे और भारत 1-2 से यह सीरीज हार गया था।
ind vs sa : जो काम भारत के ये 5 कप्‍तान नहीं कर पाए,कोहली भी उसमें फेल हो गए
2010 में पांचवां टूर, कप्‍तान थे एमएस धोनी
साल 2010 में भारत पांचवीं बार द.अफ्रीका दौरे पर गया। इस बार 3 मैचों की टेस्‍ट सीरीज खेलनी थी। भारतीय टीम की कमान थी सबसे सफल कप्‍तान एमएस धोनी के हाथों में। भारत एक मैच जीत गया, लेकिन साउथ अफ्रीका के खाते में भी एक जीत आई और आखिरी मैच ड्रा हो गया। ऐसे में सीरीज जीतने का ख्‍वाब फिर अधूरा रह गया और भारत को 1-1 से बराबरी पर संतोष करना पड़ा।

2013 में छठवां टूर, कप्‍तान थे एमएस धोनी
साल 2013 में धोनी की अगुआई में भारतीय टीम फिर द.अफ्रीका दौरे पर गई। भारत ने यहां 2 मैचों की टेस्‍ट सीरीज खेली। भारत पहला मैच तो ड्रा कराने में कामयाब रहा। लेकिन दूसरा मैच प्रोटीज के नाम रहा। यानी कि इस बार भी टेस्‍ट सीरीज जीत का सपना सिर्फ सपना ही रह गया।

Cricket News inextlive from Cricket News Desk