mukesh.chaturvedi@inext.co.in

ALLAHABAD: इलाहाबाद के निवासी क्रिकेटर मो. कैफ ने शुक्रवार को क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से रिटायर होने का ऐलान कर दिया. इसके लिए उन्होंने वही तारीख सेलेक्ट की जिस दिन 16 साल पहले उन्होंने टीम इंडिया को नेटवेस्ट सिरीज का फाइनल जिताया था. 37 वर्षीय कैफ ने सन्यास की जानकारी ट्वीट करके दी तो इलाहाबाद के क्रिकेटर्स अवाक रह गये.

क्रिकेट का हर लम्हा है यादगार

दैनिक जागरण आई नेक्स्ट से फोन पर हुई एक्सक्लूसिव बातचीत के दौरान कैफ ने कहा कि मैनें आज रिटायर होने की घोषणा कर दी है. उस ऐतिहासिक नेटवेस्ट सीरीज को 16 साल हो चुके हैं जिसका मैं भी हिस्सा था. कहा कि अपने देश भारत के लिए खेलना मेरे लिए खुशी की बात है. एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उनके लिए खेल का हर लम्हा व पारी यादगार है. इसे वे हमेशा मिस करेंगे.

अंडर-19 टीम से भरी थी उड़ान

कैफ उस भारतीय टीम का भी हिस्सा रहे जो 2003 में साउथ अफ्रीका में व‌र्ल्ड कप के फाइनल तक पहुंची थी

मोहम्मद कैफ व युवराज सिंह उन खिलाडि़यों में से हैं जो अंडर-19 की टीम से उभरकर आए थे

-कैफ ने उत्तर प्रदेश के लिए रणजी टीम की कप्तानी भी और कोच भी रहे

सौरव गांगुली के नेतृत्व में इंडियन टीम बुलंदी छू रही थी उस वक्त युवराज के साथ कैफ टीम का हिस्सा थे

कैफ ने 13 टेस्ट मैचों में 32 की औसत से 2753 रन बनाए

125 वनडे में उनका औसत 32 रहा.

अब सियासी डगर या कमेंट्री का सफर?

कैफ ने रिटायर होने की घोषणा से पहले सियासी और कमेंट्री के फील्ड में कॅरियर की तलाश शुरू कर दी थी. पिछले लोक सभा चुनाव में उन्होंने फूलपुर लोकसभा सीट से कांग्रेस के टिकट पर किस्मत भी आजमायी थी लेकिन कामयाबी नहीं मिली. इसके बाद उनकी राजनीति से सक्रियता कम हुई तो वह कमेंट्री बाक्स में हिंदी कमेंटेटर के रूप में नजर आने लगे. फ्यूचर में क्या करेंगे? इसका जवाब तो कैफ ने नहीं दिया लेकिन जानकारों का मानना है कि वह इसे ही कॅरियर बनाएंगे.

देश के लिए लंबे समय तक पूरी मेहनत व ईमानदारी से खेला. अब कॅरियर को नया मोड़ देना चाहता हूं. फिलहाल तो हिन्दी क्रिकेट कमेंटेटर के रूप में काम करुंगा. रहा सवाल राजनीति की तरफ जाने का तो फैमिली के साथ चर्चा के बाद ही इस पर कुछ बोलूंगा.

-मो. कैफ,

पूर्व भारतीय क्रिकेट

एक न एक दिन तो हर किसी को रिटायर होना ही पड़ता है. संकेत तभी मिल गया था जब उन्होंने फूलपुर से लोकसभा चुनाव लड़ा. क्रिकेट में उन्होंने इलाहाबाद का नाम पूरी दुनिया में रोशन किया. वह जिस भी फील्ड में जाएंगे, मेरी शुभकामनाएं उनके साथ हैं.

देवेश मिश्रा, कोच मोहम्मद कैफ

12

साल पहले भारत के लिए खेल था अंतिम मैच

13

टेस्ट मैचों में भारतीय टीम का हिस्सा रहे

125

वनडे मैच में देश के लिए किए शानदार प्रदर्शन

13

जुलाई 2002 को नेटवेस्ट सिरीज के फाइनल में नाबाद 87 रनों की पारी खेलकर दिलाई थी जीत

13

जुलाई को ही मोहम्मद कैफ ने की क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से रिटायर होने की घोषणा