मोदी गवर्नमेंट ने तीन साल पूरे कर लिए. इस दौरान इनवेस्टर्स मालामाल हो गए. इस अवधि में उनकी संपत्ति में 50 लाख करोड़ रुपए की बढ़ोतरी हुई है. कुल शेयर मार्केट करीब 75 लाख करोड़ से बढ़कर 125 लाख करोड़ रुपए पर पहुंच गया है। इस दौरान बंबई शेयर बाजार (बीएसई) का सेंसेक्स 6311.3 अंक यानी 25.53 परसेंट  बढ़ा है. इसी प्रकार नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी भी 30.38 परसेंट मजबूत हुआ है।


शुक्रवार को कारोबार के समाप्त होने पर बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण (एम-कैप) 1,25,63,952 करोड़ रुपए रहा। बीएसई पर लगभग 2,800 कंपनियां कारोबार करती हैं. इस दिन बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक 278.18 अंक चढ़कर पहली बार 31 हजार के स्तर को पार कर गया। यह 31028.21 अंक पर बंद हुआ। इसी प्रकार निफ्टी भी 85.35 अंक की बढ़त के साथ नए शिखर पर बंद हुआ। 50 शेयरों वाला यह सूचकांक 9595.10 अंक पर पहुंच गया।

मोदी के कार्यकाल में इनवेस्टर्स हुए मालामाल,आपका क्‍या हुआ? देखें फैक्‍ट्स

तस्‍वीरों में देखिए अरबपति की बेटियां कैसे जीती हैं अपनी लाईफ

 
बाजार में आई तेजी
जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के चीफ मार्केट स्ट्रैटेजिस्ट आनंद जेम्स ने कहा कि एनडीए गवर्नमेंट के आने के बाद से बाजार में आई तेजी का लाभ सभी वर्गों के निवेशकों को मिला है। दूसरे शब्दों में व्यापक आधार पर स्टॉक में तेजी आई है। राजनीतिक स्थिरता और गवर्नेंस में प्रत्यक्ष सुधार उम्मीद को बनाए रखने में सफल रहे। इसके चलते घरेलू संस्थागत निवेशकों का मनोबल ऊंचा रहा। वे उस दौरान भी टिके रहे जब विदेशी निवेश के मोर्चे पर अनिश्चितता रही।

आपका पीएफ कॉन्ट्रीब्यूशन घटकर हो सकता है 10 परसेंट, जानें बड़ी वजह

 
मोतीलाल ओसवाल सिक्योरिटीज के हेड रिसर्च गौतम दुग्गड़ बोले कि पिछले छह महीनों में जो रैली देखने को मिली है उसकी वजह जीएसटी के इर्दगिर्द सकारात्मक खबरें हैं। इसके अलावा अच्छे मानसून की भविष्यवाणी, एफआईआई की ओर से जोरदार निवेश और नोटबंदी के बाद घरेलू लिक्विडिटी का लगातार बढऩा भी इसके पीछे वजह हैं।

ये 10 सर्विस इंटरनेट पर फ्री में मिलती हैं, पैसे बचाने हों तो देखिए जरा

Business News inextlive from Business News Desk

Business News inextlive from Business News Desk