दैनिक जागरण आईनेक्स्ट ने उठाई थी लोको पायलट की समस्या

BAREILLY। 8 घंटे से अधिक ड्यूटी कराए जाने पर लोको पायलट में काफी आक्रोश है. ऑल इंडिया लोको रनिंग स्टाफ एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने डीआरएम को चेतावनी दी है कि यदि खाली पदों पर शीघ्र भर्ती कर काम के बोझ को कम नहीं किया गया तो वह हड़ताल करने के लिए बाध्य होंगे. पिछले फ् दिनों से ब्लैक डे मना रहे बरेली सहित पूरे मुरादाबाद मंडल के दर्जनों लोको पायलट ने डीआरएम ऑफिस पर जोरदार प्रदर्शन किया. बता दें कि दो दिन पहले दैनिक जागरण आईनेक्स्ट ने 'ट्रेन छोड़कर जा रहे थके लोको पायलट' शीर्षक से खबर पब्लिश की थी.

लोको पायलट हो रहे परेशान

एसोसिएशन के मंडल उपाध्यक्ष संतोष चौरसिया और मंडल सचिव महेश कुमार ने मंडल रेल प्रबंधक मुरादाबाद को ज्ञापन सौंपते हुए बिना गार्ड के ट्रेन नहीं चलवाए जाने, लोको पायलट के खाली पदों के शीघ्र भरे जाने, 8 घंटे से अधिक ड्यूटी न कराए जाने की मांग की. रेल प्रबंधन लोको पायलट के पद पर नई भर्ती नहीं कर रहा है. लिहाजा, बचे लोको पायलट से 8 घंटे की बजाय क्ब्-क्भ् घंटे तक काम लिया जा रहा है. जिससे लोको पायलट ट्रेन चला पाने में अपने आप को सक्षम महसूस नहीं कर रहे हैं.

कार्मिक विभाग को ठहराया दोषी

तीन दिवसीय काले दिन के अंतिम दिन सैकड़ों लोको पायलट ने काली पट्टी बांधकर और बैच लगाकर धरना दिया. धरना के दौरान अधिक कार्य कराए जाने और वेतन विसंगति को लेकर लोको पायलट आक्रोशित नजर आए. यूनियन के पदाधिकारियों ने वेतन विसंगति के लिए कार्मिक विभाग को दोषी ठहराया.