- उद्यमियों व व्यापारियों के साथ यूपी में व्यापार के बदलते परिवेश पर चर्चा में बोले डिप्टी सीएम

- डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा से उद्यमियों ने जीएसटी समेत इंफ्रास्ट्रक्चर को लेकर उठाई कई समस्याएं

द्मड्डठ्ठश्चह्वह्म@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

यन्हृक्कक्त्र: प्रदेश में उद्योगों को दिसंबर से 24 घंटे अबाध बिजली मिलने लगेगी. इसके अलावा डिफेंस इंडस्ट्रीयल कॉरीडोर और नई औद्योगिक नीति से व्यापार के सरलीकरण व नए उद्योग लगाना आसान हो जाएगा. यूपी के उद्योग,व्यापार के बदलते परिवेश को लेकर सेमिनार में आए डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने यह बात उद्यमियों से कही. मर्चेट चेंबर ऑफ यूपी, इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन और उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल की ओर मर्चेट चेंबर हॉल में कार्यक्रम हुआ.

ई वे बिल की लिमिट बढ़ाए

मर्चेट चेंबर के अध्यक्ष बीके लाहोटी ने डिप्टी सीएम के समक्ष कई मांगे रखी. जिसमें ई वे बिल में माल की लिमिट को 50 हजार से बढ़ा कर 1 लाख करने और साथ ही शहर के अंदर माल की सप्लाई पर ई वे बिल की बाध्यता कम करना मुख्य था. इसके अलावा कर निर्धारण को लेकर विस्तृत मापदंड रखे जाने की भी मांग की. इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील वैश्य ने डिप्टी सीएम से कहा कि कानपुर के उद्यमी खराब इंफ्रास्ट्रक्चर से परेशान हैं. उन्होंने उद्यमियों को दी जाने वाली जमीन को फ्री होल्ड करने, उद्योगों में हाउस टैक्स का मसला सुलझाने की मांग की. वहीं उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष श्याम बिहारी मिश्रा ने मंच से ही डिप्टी सीएम से मंडियों में पड़ने वाले शुल्क को खत्म करने की मांग रखी. इस पर डिप्टी सीएम ने कहा कि इस मामले में खुले मन से फैसला लिया जाएगा.

कानपुर के लिए विशेष बैठक करेंगे

उद्यमियों की समस्याएं सुनने के बाद मंच पर आए डिप्टी सीएम ने कहा कि बरसात बाद सड़कों का निर्माण तेजी से होगा. लीज होल्ड जमीनों को फ्री होल्ड करने पर विचार चल रहा है. यह भी बताया कि इंवेस्टर्स समिट में औद्योगिक निवेश के 68 एमओयू तो सिर्फ कानपुर से ही साइन हुए हैं. विधायक महेश त्रिवेदी, नीलिमा कटियार, पूर्व विधायक सलिल विश्नोई, मर्चेट चेंबर के उपाध्यक्ष बीएम गर्ग, राज्य अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष तनवीर हैदर उस्मानी, विजय पंडित, रिमझिम इस्पात के डायरेक्टर योगेश अग्रवाल, पदम कुमार जैन, बीके श्रेया, जेके ग्रुप से अनिल अग्रवाल, आईआईए कानपुर चैप्टर अध्यक्ष आलोक अग्रवाल, डॉ.अवध दुबे, शेष नारायण त्रिवेदी आदि मौजूद रहे.

जंगल का राजा बंदर बन जाए तो..

मंच से उद्यमियों को संबोधित करते हुए डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने जंगल की कहानी भी सुनाई. जिसमें उन्होंने कहा कि जब जंगल में चुनाव का वक्त आया तो शेर को हराने के लिए सारे जानवरों में महागठबंधन हो गया. जिसके बाद शेर हारा तो बंदर राजा बन गया. हालांकि डिप्टी सीएम ने इसे राजनीतिक चर्चा से दूर का मसला बताया.

'कानपुर की शान के लिए हो पहल' (बॉक्स में लगाएं)

मर्चेट चैंबर ऑफ उत्तर प्रदेश कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा को तिरंगा अगरबत्ती के ओनर और समाजसेवी पं. नरेंद्र शर्मा ने पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया. इस मौके पर डिप्टी सीएम से वार्ता के दौरान पं. नरेंद्र शर्मा ने उनसे आग्रह किया कि शहर की पहचान उद्योगों से है. ऐसे में उनको उम्मीद है कि कानपुर की शान के लिए सरकार 'पहल' करेगी. इस पर डिप्टी सीएम ने उनको भरोसा दिलाया कि सरकार उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए हर संभव मदद करेगी.

---------------------

बॉक्स

महंगाई का दर्द हम समझते हैं

यन्हृक्कक्त्र: पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों से आम जनता को हो रही समस्याओं को यह सरकार समझती है. प्रदेश की सरकार संवेदनशील सरकार है और वह जनता के साथ है. प्रदेश में पेट्रोल डीजल पर वैट कम करने को लेकर हम जल्द सकारात्मक फैसला लेंगे. मंगलवार को मर्चेट चेंबर हॉल में व्यापारियों व उद्यमियों के कार्यक्रम में आए डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने प्रेस वार्ता में यह जानकारी दी. हालांकि उन्होंने वैट कम करने को लेकर स्पष्ट तौर पर कुछ नहीं कहा. कांग्रेस के भारत बंद के सवाल पर उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस जनता के साथ है तो वह अपनी सरकार वाले कर्नाटक, पंजाब में वैट कम क्यों नही करती. एससीएसटी एक्ट को लेकर सवर्णो में विरोध को लेकर डॉ. शर्मा ने कहा कि समाज को बांटने की कोशिश चल रही है, लेकिन हम हिंदू मुस्लिम, दलित, सवर्ण किसी का भी उत्पीड़न नहीं होने दिया जाएगा.