कानपुर। पाकिस्तानी रुपया शुक्रवार को डॉलर के मुकाबले 148 रुपये प्रति डॉलर पर पहुंच गया है। इससे पहले रुपया इसी सप्ताह 141 प्रति डॉलर पर आया था। पाकिस्तान में महंगाई का रिकॉर्ड टूट गया है, आम लोग फल, सब्जी और दूध खाने के लिए तरस रहे हैं। मंहगाई के कारण पाकिस्तान में एक दर्जन संतरे 360 रुपये और नीबू और सेब 400 रुपये किलो बिक रहे हैं। ट्विटर पर इस बात की पुष्टि की गई है। सोशल मीडिया पर दी गई जानकारी के अनुसार, पाकिस्तान में 150 रुपये दर्जन केले, 1100 रुपये किलो मटन, 320 रुपये किलो चिकन एक लीटर दूध का दाम 120 रुपये तक पहुंच गया है।

पाकिस्तान में लगे दो तरह के बाजार
डॉन न्यूज के मुताबिक, पाकिस्तान में फिलहाल दो तरह के बाजार लगाए जा रहे हैं, एक खुला बाजार और दूसरा रमजान बाजार। पाकिस्तानी सरकार का दावा है कि रमजान बाजार में खुले बाजार की तुलना में समान काफी सस्ते हैं लेकिन आकड़ों पर नजर डालें तो ऐसा कुछ नहीं दिख रहा है। जौहर टाउन में रमजान बाजार के एक दुकानदार नदीम ने बताया कि यदि आलू रमजान बाजार में 13 रुपये प्रति किलो में उपलब्ध है, तो यह खुले बाजार में 14 रुपये या 15 रुपये प्रति किलोग्राम पर बेचा जा रहा है। यह काफी मजेदार है क्योंकि जो समान लोग लगभग उतने ही दाम में खुले बाजार से खरीद सकते हैं, वह लोग रमजान के बाजारों से 1 या 2 रुपये प्रति किलो की बचत के लिए खरीदने की जहमत क्यों उठाएंगे।


रमजान बाजार में भी कोई रियायत नहीं
सरकार ने सभी 30 रमजान बाजारों में उपलब्ध कई समानों की सूची जारी की है। उनमें से कुछ रियायती दरों पर उपलब्ध हैं जबकि कुछ समान काफी महंगे रेट पर बेचे जा रहे हैं। सूची के अनुसार, फल और सब्जियों में सेब रमजान बाजार में प्रति किलो 166 रुपये मिल रहा है, केला रमजान के बाजारों में प्रति दर्जन पर 110 रुपये में उपलब्ध है, जबकि खुले बाजार में इसे 150 रुपये में बेचा जा रहा है। अन्य समानों की दरें (रमजान बाजार और खुले बाजार) इस प्रकार हैं, लहसुन (90 रुपये और 96 रुपये), अदरक (90रुपये और 200रुपये), चीनी (55 रुपये और 60 रुपये प्रति किलो), आटा (290रुपये प्रति 10किलोग्राम बैग, 380 रुपये), बीफ (350 रुपये और 375 रुपये), अंडे (72 रुपये और 76 रुपये), कद्दू (65 रुपये और 69 रुपये), मैश पल्स (130 रुपये और 134 रुपये) और मसूर (100 रुपये और 104 रुपये)।

International News inextlive from World News Desk