एनडीपीएस एक्ट में चालान करके पुलिस ने भेजा था जेल

डीजी जेल ने लिया घटना को नोटिस बैठायी जांच, कड़ी कार्रवाई के संकेत

PRAYAGRAJ: सेंट्रल जेल नैनी में बंद एक बंदी शनिवार को रहस्यमय हालात में गायब हो गया. इस घटना ने जेल की पूरी सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़ा कर दिया है. इसे लेकर अफसर सन्नाटे में थे. घटना को दबाने की भरपूर कोशिश की गयी. इसके चलते देर रात तक इसकी सूचना नैनी पुलिस को भी नहीं दी गयी थी. देर रात डीजी जेल ने घटना को कन्फर्म किया और बताया कि जांच बैठा दी गयी है. उन्होंने कहा कि लापरवाही बरतने वाले किसी भी सख्स को बख्शा नहीं जाएगा.

सराय इनायत पुलिस ने भेजा था जेल

सेंट्रल जेल की सुरक्षा व्यवस्था को धता बताकर भागने में सफल रहे बंदी का नाम भगंते उर्फ छग्गन बताया गया है. सरायइनायत एरिया निवासी छग्गन को पुलिस ने नशीला पदार्थ रखने के आरोप में गिरफ्तार किया था. कोर्ट में पेश करने के बाद पुलिस ने उसे नैनी जेल भेज दिया. शनिवार को अचानक अधिकारियों को पता चला कि वह लापता हो गया गया है. यह खबर मिलते ही अधिकारियों के होश उड़ गए. आनन-फानन में उसकी तलाश शुरू कर दी गई. अधिकारी यह नहीं समझ पा रहे कि पेशी के वक्त लापता हुआ या जेल से फरार हो गया है. इस बात को लेकर अधिकारी पशोपेश की स्थिति है. मामले में कोई भी अधिकारी कुछ बोलने को तैयार नहीं है.

रोशनदान से भाग निकला

महिला वार्ड के बगल में बने 18 नंबर बैरक में उसे रखा गया था. पुलिस ने उसे 31 दिसंबर को जेल में दाखिल किया था. उसने 4 दिसंबर को भी भागने का प्रयास किया था और अपने बैरक के बगल में बने गोदाम में छिप गया था. इसके बाद उसे कोर्ट ने विशेष सुरक्षा में रखने का निर्देश दिया था. इसके बाद उसे 18 नंबर बैरक में शिफ्ट कर दिया गया था. यहां से वह रोशनदान का इस्तेमाल भागने के लिए किया. उसने कंबल को बैरक में इस तरह से बिछा रखा था जैसे कोई लेटा हुआ हो. एलार्म कराकर छानबीन के दौरान यह तथ्य सामने आया. पड़ताल में पता चला कि नयी बाउंड्री वॉल के पास लगे पेड़ के सहारे वह बाहर निकला. यहां उसने अपने मफलर का इस्तेमाल किया था.

बंदी जेल पुलिस को झांसा देकर भाग निकला है. काफी कोशिश के बाद भी उसका कुछ पता नहीं चला. इसकी सूचना पुलिस को दे दी गयी है. इसमें पांच लोगों को नामजद किया गया है.

राजीव कुमार मिश्र

कारापाल, सेंट्रल जेल नैनी

31

दिसंबर को पुलिस ने उसे सेंट्रल जेल में दाखिल किया था

03

केस में वांटेड होने पर पुलिस ने उसे पकड़ा था

06

नंबर बैरक के बगल में बने गोदाम में छिपा था

04

को कोर्ट में हुई थी पेशी, विशेष सुरक्षा में रखने का हुआ था निर्देश

18

नंबर बैरक में शनिवार को नहीं मिला मौजूद

05

लोगों के खिलाफ दर्ज करायी गयी रिपोर्ट