बेसिक शिक्षा विभाग ने यूनिसेफ के सहयोग से तैयार किया एपे

- स्कूलों में क्लास के संचालन से लेकर हर चीज पर होगा निरीक्षण

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: बेसिक शिक्षा के स्कूलों का निरीक्षण करने के लिए अब अधिकारियों की मदद के लिए 'ईक्षा' ऐप तैयार किया गया है. जिससे अधिकारी आसानी से स्कूल में चल रहे पठन -पाठन के कार्यो का निरीक्षण कर सकेगे. बेसिक शिक्षा विभाग ने ऐप का निर्माण यूनिसेफ की मदद से किया है. जिससे स्कूलों में पढ़ाई की गुणवत्ता को सुधारा जा सके और स्कूलों में होने वाली सभी गतिविधियों का निरीक्षण किसी भी समय किया जा सकेगा. जिससे स्कूलों में सुधार किया जा सके. इसके पहले विभाग की तरफ से शिक्षकों की सुविधा के लिए 'दीक्षा' ऐप तैयार किया गया था. जिससे शिक्षकों को पढ़ाने में सुविधा मिल सके. नए ईक्षा ऐप को लेकर बेसिक शिक्षा निदेशक डॉ. सर्वेन्द्र विक्रम बहादुर सिंह ने सभी जिलों के बीएसए को इस बार में निर्देश जारी कर दिए.

बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों पर खास जोर

बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्कूलों में पढ़ाई की व्यवस्था में सुधार के के लिए विभाग की तरफ से विशेष जोर दिया जा रहा है. राज्य परियोजना कार्यालय 13 सितंबर 2017 को ही पत्र भेजकर सह समन्वयकों के कार्य व दायित्व को तय कर चुका है. जिसका अब अनुपालन करने की तैयारी है. विद्यालयों के निरीक्षण के साथ ही क्लासेस में शिक्षको सहयोग के साथ ही निरीक्षण को अनिवार्य किया गया है. स्कूलों के निरीक्षण को आसान बनाने और टाइमिंग को लेकर यूनीसेफ के सहयोग से मोबाइल एप ईक्षा विकसित किया जा चुका है. इसका प्रयोग सह समन्वयक करेंगे. निर्देश है कि सह समन्वयक को हर माह 20 स्कूलों का निरीक्षण व पढ़ाई में सहयोग देना है. उसी समय इस एप के माध्यम से विद्यालय और विषय का अनुश्रवण किया जाएगा. विकासखंड वार विद्यालय अनुश्रवण की कार्ययोजना इस तरह बनाई जाए कि सभी स्कूल हर तीन माह में पूरे जाएं. सह समन्वयक स्कूल निरीक्षण के पहले तैयारी करेगा मसलन पूर्व के निरीक्षण में मिले फीडबैक को भी संज्ञान में रखेगा. कक्षा देखने के समय प्रासंगिक बिंदु को टिक करना, कमी और अच्छाई को शिक्षकों से साझा करना साथ ही शिक्षकों से मिलकर अगली योजना तैयार की जाएगी. सुझाव विजिटर रजिस्टर में लिखे जाएंगे और बीआरसी समन्वयक को भी उससे अवगत कराया जाएगा.