- प्रदेश भर में स्कूलों का औचक निरीक्षण जारी

- रोज 400 से ज्यादा स्कूलों का किया जा रहा निरीक्षण

- 9 टीचर मिले स्कूल से गायब, छात्रों की हाजिरी सिर्फ 61 परसेंट

देहरादून, प्रदेशभर में बायोमेट्रिक हाजिरी को लेकर शिक्षा विभाग के पास मॉनिटरिंग का कोई भी प्लान नहीं है, जो सिस्टम वर्तमान में चल रहा उसके हिसाब से महीने के अंत में एक बार अटैंडेंस की डिटेल ली जाती है. जिससे प्रॉपर मॉनिटरिंग नहीं हो पा रही है. ऐसे में यह सिस्टम कितना कारगर है इसका अंदाजा लगाया जा सकता है. इतना ही नहीं कई स्कूलों में बायोमेट्रिक अटैंडेंस मशानें खराब पड़ी हैं. जिनकी मेंटीनेंस की भी कोई जिम्मेदारी तय नहीं की गई है. ये खुलासा शिक्षा विभाग द्वारा स्कूलों के औचक निरीक्षण के बाद हुआ है.

रोजाना 400 से ज्यादा स्कूलों में निरीक्षण

गर्मियों की छुट्टी खत्म होते ही सरकारी स्कूलों में शिक्षा विभाग ने औचक निरीक्षण के आदेश दिए हैं. जिसको लेकर कई टीमें बनाई गई हैं. रोजाना 400 से ज्यादा स्कूलों में निरीक्षण किया जा रहा है. प्रदेशभर के स्कूलों में छात्रों की संख्या, शिक्षकों की बायोमेट्रिक उपस्थिति से लेकर बिना अनुमति गैर हाजिर शिक्षकों की जानकारी ली जा रही है.

शिक्षा विभाग की टीमों द्वारा औचक निरीक्षण में चौंकाने वाली बात सामने आई कि स्कूलों में 20 से 25 परसेंट स्कूलों में ही बायोमेट्रिक अटैंडेंस मशीनें लगी हैं, लेकिन उनमें भी मॉनिटरिंग की ठोस व्यवस्था नहीं है. देहरादून के सीईओ एसबी जोशी से जब बायोमेट्रिक मशीनों की मॉनिटरिंग को लेकर जानकारी मांगी गई तो उन्होंने बताया कि जिन स्कूलों में बायोमेट्रिक मशीनें लगी हैं उनकी रिपोर्ट महीने के आखिर में हार्ड डिस्क के माध्यम से मंगाई जाती है. इसके अलावा हर स्कूल में एक-एक रजिस्टर भी रखा जाता है. जिसको क्रॉस चेक किया जाता है. लेकिन सवाल ये उठता है कि ये सिस्टम कितना फूलप्रूफ है, इस बात की कोई गारंटी नहीं है. इतना ही नहीं कई स्कूल ऐसे हैं जिसमें बायोमेट्रिक मशीनें खराब पड़ी है. जिनकी मॉनिटरिंग समय-समय पर नहीं होती है.

--------------

9 टीचर मिले नदारद

सरकारी स्कूलों में बुधवार को भी शिक्षा विभाग की टीमों ने औचक निरीक्षण किया. इस दौरान 464 स्कूलों में निरीक्षण किया गया. जहां 9 शिक्षक बिना अवकाश स्वीकृत कराए अनुपस्थित पाए गए. इनमें 2 शिक्षक वर्ष 2015 से अनुपस्थित पाए गए हैं. इधर बुधवार को भी छात्रों की उपस्थिति 61.4 प्रतिशत ही मिली, जबकि 93.5 प्रतिशत शिक्षक उपस्थित मिले हैं. 464 स्कूलों में 27.5 स्कूलों में बायोमेट्रिक मशीनें लगी मिली.

बुधवार की रिपोर्ट

464 विद्यालयों का किया गया निरीक्षण

9 शिक्षक बिना छुट्टी लिए मिले नदारद

93.5 प्रतिशत मिली शिक्षकों की हाजिरी

27.5 प्रतिशत छात्र मिले उपस्थित

27.5 प्रतिशत विद्यालयों में ही लगी मिलीं बायोमेट्रिक मशीन