यूपी बोर्ड की तरफ से सभी स्कूलों को जारी किया गया निर्देश

बोर्ड परीक्षा का प्राइवेट फार्म भरने वाले बच्चों की अर्हता की होगी जांच

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए प्राइवेट फार्म भरने वाले परीक्षार्थियों की अर्हता की गहनता से जांच होगी. इसके लिए यूपी बोर्ड की तरफ से सभी स्कूलों के प्रिंसिपल को निर्देश जारी कर दिए गए हैं. बोर्ड की तरफ से कहा गया है कि प्राइवेट स्टूडेंट्स की किसी भी प्रकार की अर्हता में गड़बड़ी पर संबंधित स्कूल के प्रिंसिपल की जिम्मेदारी होगी. ऐसे में उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज होगी.

83 हजार में मिली थी गड़बड़ी

बोर्ड परीक्षा में प्राइवेट फार्म भरते समय कई बार परीक्षार्थियों की तरफ से अर्हता में गड़बड़ी की जाती है. बोर्ड सचिव नीना श्रीवास्तव ने बताया कि लास्ट इयर ही बोर्ड परीक्षा का फार्म भरते समय 83 हजार परीक्षार्थियों की अर्हता में गड़बड़ी पकड़ी गई थी. अर्हता प्रमाणपत्र फर्जी मिलने के बाद बोर्ड की तरफ से उन परीक्षार्थियों का आवेदन निरस्त कर दिया गया था. इसके साथ ही संबंधित केन्द्र के प्रधानाचार्य के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराते हुए कार्रवाई की गई. इस बार भी एफआईआर दर्ज कराने की व्यवस्था की गई है. ऐसे मामलों को रोकने के लिए बोर्ड की तरफ से फर्जी अर्हता वाले परीक्षार्थियों के आवेदनों की गहन जांच कराकर फर्जी पाए जाने पर उन्हें रूट लेवल पर ही निरस्त करने का निर्देश जारी किया गया है. इस व्यवस्था के बाद ऐसे परीक्षार्थियों को बोर्ड की तरफ से किसी भी दशा में अनुक्रमांक आदि अनुदानित नही हो सकेगा. इससे काफी हद तक फर्जीवाड़े को रोका जा सकेगा.