PATNA : लाखों छात्रों बिहार बोर्ड की इंटर की परीक्षा में फेल है. लेकिन इसका तरीका भी अजीबो- गरीब है. दैनिक जागरण आई नेक्स्ट के सामने ऐसे कई मामले सामने आए, जिसमें स?जेक्टली छात्र- छात्राएं पास हैं, लेकिन अंत में उन्हें फेल लिखकर तनाव में डाल दिया गया है. इससे यह सवाल खड़ा हो गया है कि कहीं यह फेल का कोई खेल तो नहीं. जानकारी हो कि कुछ दिन पहले एक गिरोह का खुलासा किया गया था जिसमें पैसे लेकर छात्र- छात्राओं को पास करने की बात का खुलासा किया गया था. इस प्रकार की रिजल्ट आने से सैंकड़ों ऐसे छात्र सकते में हैं. उनके सामने पास होने के बाद भी बोर्ड का चक्कर काटने के अलावा कोई उपाय नहीं है.

यह है मामला

सब्जेक्ट वाइज पास होने के बाद कम या अधिक अंक आने पर भी स्टूडेंट्स पास होते हैं. लेकिन सब्जेक्टली पास होने के बाद भी बिहार बोर्ड ने कुछ छात्र-छात्राओं के रिजल्ट में फेल लिखकर परेशानी खड़ी कर दी है. ऐसा रिजल्ट किसी एक खास प्रमंडल का न होकर पूरे प्रदेश भर का है. उदाहरण के तौर पर इंटर साइंस की छात्रा वर्षा रानी, (रैल कोड क्7क्क्0)(पिता अवधेश कुमार सिंह) को कुल भ्00 माक्स में ख्77 मा‌र्क्स प्राप्त हुआ है. वह स?जेक्टली पास है. लेकिन फेल लिखा है.

शिक्षा के मंदिर में बरपा जमकर हंगामा

बिहार बोर्ड के इंटर का परिणाम आते ही सूबे में विरोध की आग में सुलगने लगी. स्टूडेंट्स के साथ छात्र संगठनों ने खराब रिजल्ट पर जमकर प्रदर्शन किया. बुधवार को बिहार बोर्ड के उच्च माध्यमिक कार्यालय उन्होंने जमकर प्रदर्शन किया. हालात इस कदर बेकाबू हो गए कि पुलिस को निर्दोष छात्रों पर लाठियां बरसानी पड़ी. राज्य सरकार और बोर्ड अध्यक्ष के खिलाफ घंटों जमकर नारेबाजी हुई. मामले को शांत कराने में पुलिस और प्रशासन को काफी मशक्कत करनी पड़ी. विरोध की इस आग में कई स्टूडेंटस घायल हुए हैं.

नहीं हुई सुनवाई तो जलेगा प्रदेश

विरोध प्रदर्शन करने वालों ने परीक्षा परिणाम पर सवाल खड़ा करते हुए कहा है कि अगर सुधार नहीं किया गया तो पूरा प्रदेश विरोध की आग में जलेगा. वह राज्यव्यापी आंदोलन करेंगे की चेतावनी दे रहे हैं. छात्रों का कहना है कि कई स्टूडेंटस जेईई मेन में पास और इंटर में फेल. जेईई मेन सहित अन्य उच्च संस्थानों की प्रवेश परीक्षाओं में सफल विद्यार्थी तेज धूप में भी घंटों गेट के पास धरना देते रहें. परीक्षार्थियों ने कहा कि जेईई मेन और निफ्ट में बेहतर अंक आए हैं और इंटर में फेल कर दिया गया है. ज्ञात हो कि इंटर परीक्षा के साथ ही इम्प्रूवमेंट का रिजल्ट आना था. लेकिन ऐसा नहीं होने से हजारों छात्र परेशान है. इंटर काउंसिल के पास ऐसे सैंकड़ों छात्रों ने भी प्रदर्शन किया. जानकारी हो कि इसमें उन छात्रों ने परीक्षा दिया था जो कि इंजीनियरिंग और मेडिकल के लिए अप्लाई किया है.

विरोध प्रदर्शन एक नजर में

-छात्रों ने कहा शिकायत दर्ज कराने पर कॉपी कर दी जाए सार्वजनिक

-स्टूडेंटस बोले कापी सार्वजनिक करने से क्यों किया जा रहा मना?

-रिजल्ट में सुधार के लिए धरने पर बैठीं छात्राएं साल भर की मेहनत जाया जाने पर रो पड़ीं

-बोर्ड अध्यक्ष एवं पटना कमिश्नर आनंद किशोर का फूंका पुतला :

-पुतला फूंकने से मना करने पर पुलिसकर्मियों से हुई नोकझोंक

-भाकपा माले ने इंटरमीडिएट परीक्षा में खराब रिजल्ट के लिए शिक्षा मंत्री से इस्तीफा मंागा

-जन अधिकार पार्टी ने इंटरमीडिएट काउंसिल के समीप शांतिपूर्ण प्रदर्शन में छात्रों पर लाठी चार्ज की निंदा की है

-इंटर काउंसिल के पास मौजूद अभिभावकों की ओर से मजहर आलम ने कहा कि सभी छात्रों की मा‌र्क्ससीट को बोर्ड के वेबसाइट पर अपलोड़ करना चाहिए. ताकि भ्रम दूर हो.