क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : झारखंड की राजधानी रांची में भगवान बिरसा मुंडा अंतरराष्ट्रीय आदिवासी फिल्म महोत्सव के आयोजन की तैयारी है. मुंबई की फिल्म कंपनी आइइपीएफ समेत कुछ अन्य कंपनियों ने इस महोत्सव में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेने से संबंधित एक प्रस्ताव सरकार को दिया है. संबंधित कंपनी ने इस आयोजन पर 2.69 करोड़ रुपये खर्च होने की संभावना जताई है.

कई हस्तियां होंगी शामिल

महोत्सव के उद्देश्य और उससे जुड़ी तमाम जानकारियों से मुख्यमंत्री समेत कल्याण मंत्री और पर्यटन, कला-संस्कृति, क्रीड़ा एवं युवा विभाग मामले के मंत्री को अवगत कराया गया है. अगर सहमति बन जाती है तो इसका आयोजन 15 से 21 नवंबर तक राजधानी रांची में होगा. इस आयोजन में मुंबई और विदेशों से संबद्धता रखने वाले फिल्म उद्योग की नामचीन हस्तियां शामिल होंगी.

मेले के रूप में मनेगा महोत्सव

प्रस्ताव के मुताबिक यह आयोजन एक विशाल मेले के रूप में होगा, जिसमें राज्य के जनजातीय क्षेत्रों के आदिवासी कला, शिल्प, खानपान, संस्कृति, गीत-संगीत, नृत्य आदि का समावेश भी होगा. इस आयोजन के लिए जिस भी फिल्म कंपनी का चयन होगा, वह फिल्मोत्सव से पूर्व राज्य के आदिवासी बहुल क्षेत्रों का दौरा करेगी तथा स्थानीय आदिवासी नायकों की कथाओं पर छोटी-छोटी फिल्में बनाएगी.

आदिवासियों द्वारा बनाई फिल्म का शो

महोत्सव में दिखाई जाने वाली फिल्में स्थानीय आदिवासियों द्वारा ही बनाई जाएंगी, फिल्म निर्माता कंपनी उनका मार्गदर्शन करेगी. इस कार्य के लिए उन्हें दैनिक भत्ता भी दिया जाएगा. माना जा रहा है कि इससे स्थानीय फिल्मकारों, निर्माताओं, निर्देशकों, गीतकारों, संगीतकारों और कलाकारों को विश्व स्तरीय पहचान मिलेगी.

---