डिलिट डाटा की रिकवरी कराएगी पुलिस

जांच के लिए आरटीओ भेजा जाएगा डीएल

GORAKHPUR: अवैध तरीके से इंडिया में प्रवेश करने के आरोप में अरेस्ट यूक्रेन की मॉडल डारिया मोलचन से जेल में पूछताछ होगी. कोर्ट से अनुमति मिलने पर मामले के विवेचक और एसपी क्राइम मंगलवार को जेल में जानकारी लेने पहुंचेंगे. मामले की तह तक जाने के लिए विदेशी मॉडल को रिमांड पर लेने की डिमांड पुलिस करेगी. एसएसपी ने बताया कि महिला के पास मिले फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस में इस्तेमाल दस्तावेजों की पड़ताल के लिए आरटीओ की मदद ली जाएगी. डीएल को जांच के लिए आरटीओ भेजा जाएगा.

कोर्ट ने दी पूछताछ की अनुमति

फर्जी कागजात के सहारे नेपाल के रास्ते भारत पहुंची यूक्रेन की मॉडल डारिया मोलचन को एसटीएफ ने अरेस्ट किया था. पार्क रोड के होटल में छापा मारकर पुलिस ने मॉडल को पकड़ा तो कई राज सामने आए. उसके खिलाफ कैंट थाना में केस दर्ज कराया गया था. केस की विवेचना के लिए डारिया का बयान लेना जरूरी है. अभी तक के जांच में सामने आए तथ्यों की पुष्टि के लिए डारिया से मिलकर विवेचक बयान दर्ज कराएंगे. विवेचक ने जेल में बंद मॉडल से पूछताछ के लिए कोर्ट से अनुमति मांगी थी. कोर्ट से परमिशन मिलने पर मंगलवार को एसपी क्राइम और विवेचक जेल पहुंचेंगे.

तथ्यों, बयानों में विरोधाभास पर लेंगे रिमांड

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि डारिया के बयान और जांच में सामने आए तथ्यों में भिन्नता पाए जाने कस्टडी रिमांड की डिमांड की जाएगी. इसके लिए कोर्ट में अर्जी दी जाएगी ताकि जांच को आगे बढ़ाया जा सके. मॉडल के मोबाइल फोन, टैबलेट को फारेसिंक लैब में भेजकर हाल के दिनों में डिलीट किए गए डाटा की रिकवरी कराई जाएगी. डारिया से जुड़े बंगाल के नौकरशाहों से पूछताछ के लिए टीम गठित करके भेजी जाएगी.