-लूटी की कारों को छिपाते थे रायबरेली में

- बिथरी पुलिस ने अंतरराज्यीय गिरोह को दबोचा

BAREILLY :

फतेहगंज पश्चिमी में 26 अगस्त की रात में टोल प्लाजा के पास ड्राइवर की हत्या कर इनोवा लूट की वारदात अंतरराज्यीय गिरोह ने की थी. बिथरी चैनपुर पुलिस ने मंडे रात चेकिंग के दौरान रजऊ में गिरोह के छह बदमाशों को पकड़ लिया. गिरोह मुरादाबाद की इनोवा और दिल्ली से लूटी वैगन-आर कार लेकर रायबरेली से दिल्ली भाग रहा था. चेकिंग देखते ही सरगना आकाश अपनी प्रेमिका को कार में ही छोड़कर फरार हो गया. गिरोह अब तक रायबरेली, लखनऊ, मुरादाबाद, दिल्ली सहित एक दर्जन से ज्यादा वाहन लूट और दो चालकों की हत्या कर चुका है. इनके कब्जे से दोनों गाडि़यां, भारी मात्रा में असलहा व फर्जी आईडी बरामद हुई हैं.

प्रेमिका को छोड़ हो गए फरार

पकड़े गए बदमाशों में नरेंद्र शर्मा दिल्ली में बदरपुर क्षेत्र के सौरभ विहार का, सर्वेश यादव मूल रूप से रायबरेली में थाना मिल एरिया के रतनसिंहपुर गांव का, हर्ष कुमार दिल्ली के गढ़ी क्षेत्र में ईस्ट ऑफ कैलाश का, राजू कुमार शर्मा दिल्ली के संगम विहार का, मोहम्मद छोटू भी संगम विहार का, राजू बदरपुर क्षेत्र के हरिनगर का मूल निवासी है. गिरोह का सरगना आकाश मूल रूप से रायबरेली के भदोखा क्षेत्र में भोएमऊ गांव का निवासी है, पिछले तीन साल से दिल्ली में फरीदाबाद बॉर्डर के बसंतपुर मोहल्ला में रह रहा है.

कार खराब होने पर पकड़े गए

एसपी सिटी रोहित सिंह सजवाण ने बताया कि बिथरी चैनपुर इंस्पेक्टर कृष्णमुरारी दोहरे और दारोगा बालिस्टर त्यागी रजऊ चौकी के पास हाइवे पेट्रोलिंग कर रही थे. इसी दौरान एक इनोवा शाहजहांपुर की तरफ से शहर की ओर आती दिखी. रुकने का इशारा करने पर इनोवा काफी पहले ही रुक गई. जब तक पुलिस पहुंची आकाश भाग निकला. दोनों कारों में बैठे छह बदमाशों को दबोच लिया. वैगन-आर में 16-17 साल की एक युवती भी बैठी मिली. न तो इनके पास कार के कागजात थे और न कुछ बता सके. बदमाश शाम को रायबरेली से दिल्ली के लिए निकले थे, लेकिन तिलहर के पास कार खराब हो गई थी. सर्वेश यादव ने बताया कि आकाश और बाकी सभी लोग दिल्ली में ऑटो या कैब ड्राइविंग का काम करते हैं. वहीं से एक दूसरे के संपर्क में आए थे. आकाश उर्फ सम्राट उसका मौसेरा भाई है. 26 अगस्त को वह, आकाश, नरेंद्र, हर्ष और दिल्ली निवासी कालू ट्रेन से रायबरेली जाने के लिए निकले थे. रास्ते में ट्रेन में सीट न मिलने पर मुरादाबाद में उतर गए. हाइवे पर ही इनोवा दिखी आकाश ने इनोवा को किराये पर लेकर लूटने की साजिश बताई. घर तक अपनी कार से जाने के लालच में आकर ड्राइवर संभल के बनियाठेर में नरोली गांव निवासी विपिन राघव से मुरादाबाद से बरेली तक के लिए 1800 रुपए में कार तय की. सभी लोग सवार हुए पहला टोल (मूढ़ा पांडे) निकलते ही आकाश ने कार कब्जे में ले ली और बाकी लोगों ने ड्राइवर की तौलिए से गला घोंटकर हत्या कर दी. पश्चिमी का टोल पार करते ही गाड़ी किनारे लगाकर हाथ-पैर बांधकर शव को झाडि़यों में फेंककर रायबरेली भाग गए.

रायबरेली में छिपाते थे गाडि़यां

पूछताछ में पता चला कि गिरोह के सदस्य दिल्ली, लखनऊ, मुरादाबाद, नोएडा और रायबरेली में वारदातें कर चुके हैं. आकाश इस गिरोह का सरगना है. लूटे गए वाहनों को ठिकाने लगाने या बेचने की डीलिंग वही करता है. वारदात कहीं भी की हो, लेकिन गाडि़यां रायबरेली में भदोखर पहुंचती थीं.

खुलीं यह वारदातें

-26 अगस्त को मुरादाबाद से वहां के गोविंदपुरम निवासी वीरेंद्र सिंह इनोवा लूटी

-जुलाई में दिल्ली के ईस्ट कैलाश से वैगन आर कार लूटी

-तीन माह पहले रायबरेली में ईदगाह के पास महिला के गहने लूटे

-30 अगस्त को रायबरेली के डलमऊ कस्बा में बाइक लूटी, जिसे पीछा किए जाने पर भदोखर के बाहर छोड़कर भाग गए

-लखनऊ के पास रायबरेली मार्ग पर स्कॉर्पियो लूटी