नई दिल्ली, जेएनएन। IPL 2019 के क्वालीफायर दो में दिल्ली का सामना चेन्नई के साथ हुआ। इस अहम मैच में चेन्नई ने दिल्ली को 6 विकेट से हराकर इस सीजन के फाइनल में जगह बना ली है। अब फाइनल में चेन्नई का सामना मुंबई के साथ होगा जो पहले ही फाइनल में पहुंच चुकी है। इस मैच में जीत के साथ चेन्नई की टीम ने आठवीं बार आइपीएल फाइनल में जगह बनाई है। दस सीजन में चेन्नई ने आठवीं बार फाइनल में जगह बनाई। इस मैच में धौनी का अनुभव श्रेयस की कप्तानी पर हावी दिखी और दिल्ली का पहली बार फाइनल में पहुंचने का सपना टूट गया।

छह विकेट से जीती चेन्नई
विशाखापत्तनम में खेले गए इस मैच में चेन्नई ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। पहली पारी में बल्लेबाजी करते हुए दिल्ली की टीम ने 20 ओवर में नौ विकेट पर 147 रन बनाए। जीत के लिए मिले 148 रन के लक्ष्य को चेन्नई ने डू प्लेसी व वॉटसन की अर्धशतकीय पारी के दम पर छह विकेट शेष रहते हासिल कर लिया। चेन्नई ने 19 ओवर में चार विकेट पर 151 रन बनाए।
दिल्ली का फाइनल खेलने का टूटा सपना,csk ने dc को क्वाॅलीफाॅयर 2 में 6 विकेट से हराया
डू प्लेसी व वॉटसन के अर्धशतक
चेन्नई के ओपनर बल्लेबाज डू प्लेसी ने वॉटसन के साथ मिलकर अपनी टीम को मजबूत शुरुआत दिला दी। दोनों बल्लेबाजों के बीच पहले विकेट के लिए 81 रन की साझेदारी हुई। इस पार्टनरशिप को ट्रेंट बोल्ट ने तोड़ा। बोल्ट की गेंद पर डू प्लेसी कीमो पॉल के हाथों लपके गए। डू प्लेसी ने 39 गेंदों पर 50 रन की पारी खेली और टीम की जीत का आधार बना दिया। शेन वॉटसन ने अहम वक्त पर टीम के लिए अर्धशतकीय पारी खेली। उन्होंने 32 गेंदों पर 50 रन बनाए। वॉटसन ने अपनी पारी में तीन चौके व चार छक्के जड़े। शेन को अमित मिश्रा ने ट्रेंट बोल्ट के हाथों कैच करवा कर पवेलियन भेज दिया। सुरेश रैना 11 रन बनाकर अक्षर पटेल की गेंद पर क्लीन बोल्ड हो गए। कप्तान धौनी को ईशांत शर्मा ने नौ रन पर आउट करवा दिया। धौनी का कैच कीमो पॉल ने लपका।अंबाती रायुडू 20 गेंदों पर 20 रन बनाकर नाबाद रहे।  

बिखर गई दिल्ली की बल्लेबाजी, हावी रहे चेन्नई के गेंदबाज
दिल्ली के खिलाफ पहली पारी में चेन्नई के पहली सफलता दीपक चहर ने दिलाई। दीपक की गेंद पृथ्वी के पैर पर लगी और अपील के बाद अंपायर ने उन्हें LBW आउट नहीं दिया। इसके बाद चेन्नई ने रिव्यू लिया और तीसरे अंपायर ने पृथ्वी को आउट करार दिया। इस मैच में पृथ्वी का शो नहीं चल पाया और वो पांच रन बनाकर ही आउट हो गए। टीम के ओपनर बल्लेबाज शिखर धवन ने 14 गेंदों पर 18 रन की पारी खेली और धीरे-धीरे अपनी पारी को बनाने की कोशिश में लगे थे, लेकिन उनकी उम्मीदों पर भज्जी ने पानी फेर दिया। भज्जी ने विकेट के पीछे धौनी के हाथों धवन को कैच करवा दिया। कोलिन मुनरो ने 24 गेंदों पर 27 रन की अच्छी पारी खेली पर उनकी पारी का अंत जडेजा ने कर दिया। जडेजा की गेंद पर मुनरो का कैच ड्वेड ब्रावो ने पकड़ लिया।
दिल्ली का फाइनल खेलने का टूटा सपना,csk ने dc को क्वाॅलीफाॅयर 2 में 6 विकेट से हराया
गलत समय पवेलियन लौटे रिषभ पंत
दिल्ली के कप्तान श्रेयस अय्यर को इमरान ताहिर ने अपना शिकार बनाया। काफी संभलकर बल्लेबाजी कर रहे श्रेयस ने 18 गेंदों पर 13 रन बनाए। श्रेयस का कैच सुरेश रैना ने पकड़ा। डीजे ब्रावो की गेंद पर अक्षर पटेल तीन रन बनाकर इमरान ताहिर के हाथों कैच आउट हुए। दिल्ली का छठा विकेट शरफेन रदरफोर्ड के तौर पर गिरा। उन्हें भज्जी ने अपना दूसरा शिकार बनाया। रदरफोर्ड ने 12 गेंदों पर 10 रन की पारी खेली। कीमो पॉल को ब्रावो ने खेलने का मौका ही नहीं दिया और बिना खाता खोले ही पवेलियन का रास्ता दिखा दिया। ब्रावो ने कीमो को क्लीन बोल्ड कर दिया। दीपक चहर ने रिषभ पंत को ड्वेन ब्रावो के हाथों कैच आउट करवा दिया। रिषभ ने 25 गेंदों पर 38 रन बनाए। जडेजा ने बोल्ट को तीन पर पर बोल्ड कर दिया। अमित मिश्रा छह रन जबकि ईशांत शर्मा 10 रन बनाकर नाबाद पवेलियन लौटे। चेन्नई के गेंदबाजों ने काफी अच्छी गेंदबाजी की और दीपक चहर, हरभजन सिंह व रवींद्र जडेजा ने दो-दो जबकि इमरान ताहिर को एक सफलता मिली।

जानें किस IPL में कौन सी टीमें पहुंची फाइनल में


IPL में एक हाथ से कैच पकड़कर दर्शक बन गया लखपति

बिना बदलाव के उतरी दिल्ली, चेन्नई में एक बदलाव
चेन्नई के खिलाफ दिल्ली के कप्तान श्रेयस अय्यर ने अपनी प्लेइंग इलेवन में किसी भी तरह का कोई बदलाव नहीं किया है। वो अपने पिछले वीनिंग कांबिनेशन के साथ ही मैदान पर उतरे हैं। वहीं धौनी की टीम ने अपनी टीम में एक बदलाव किया। बल्लेबाज मुरली विजय को प्लेइंग इलेवन से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया और उनकी जगह टीम में तेज गेंदबाज शर्दुल ठाकुर को शामिल किया गया।