कानपुर। इंडियन प्रीमियर लीग के 12वें सीजन का 12वां मैच रविवार शाम चेन्नई सुपर किंग्स बनाम राजस्थान राॅयल्स के बीच खेला गया। चेन्नई ने ये मैच आठ रन से जीता। सीएसके की इस जीत के हीरो कप्तान एमएस धोनी रहे जिन्होंने नाबाद 75 रन की पारी खेली। इस इनिंग के लिए माही को अच्छी बल्लेबाजी और किस्मत दोनों का साथ मिला। धोनी जब जीरो रन पर थे तब एक गेंद उनके स्टंप पर जाकर लगी मगर गिल्ली न गिरने के चलते उन्हें आउट नहीं दिया गया।

विकेट पर लगी गेंद फिर भी नहीं गिल्ली
ये वाक्या सीएसके की पारी के छठवें ओवर में हुआ। चेन्नई के तीन विकेट गिर चुके थे और क्रीज पर थे एमएस धोनी और सुरेश रैना। राजस्थान के तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर छठवां ओवर फेंकने आए। इस ओवर की चौथी गेंद धोनी ने खेली। माही ने डिफेंसि शाॅट खेला और गेंद उनके पैर के पास टप्पा खाकर विकेट की तरफ जाने लगी। धोनी जब तक गेंद को रोकते वह स्टंप से टकरा चुकी थी। माही यहां खुशकिस्मत रहे कि विकेट में गेंद लगने के बावजूद गिल्ली नहीं गिरी और वह आउट होने से बच गए। ये नजारा देख राजस्थान के कप्तान सहित सभी खिलाड़ी हैरान रह गए।


धोनी ने लगाया फिर अर्धशतक
जीरो रन पर मिले इस जीवनदान के बाद धोनी ने दोबारा कोर्ठ गलती नहीं की। सीएसके की खराब शुरुआत के बावजूद माही ने पारी को सिर्फ संभाला ही नहीं बल्कि एक अच्छे टोटल तक भी ले गए। धोनी ने 46 गेंदों पर 75 रन बनाए। इस दौरान उनके बल्ले से 4 चौके और 4 छक्के निकले। यही नहीं धोनी ने पारी के आखिरी ओवर में 28 रन बटोरे। जिसके चलते सीएसके ने निर्धारित 20 ओवर में पांच विकेट के नुकसान पर 175 रन बनाए। जवाब में राजस्थान की टीम 167  रन ही बना सकी और चेन्नई ने ये मैच आठ रन से जीत लिया।

IPL मैच की एक पारी में कितनी बार लगे हैं दो शतक, यहां जानें

IPL 2019 : कौन है ये तूफानी बल्लेबाज, जिसके बराबर रन कोहली की पूरी टीम भी नहीं बना पाई

Cricket News inextlive from Cricket News Desk