कानपुर। आईपीएल इतिहास में अभी तक कुल 12 टूर्नामेंट खेले गए। हर बार कोई एक टीम चैंपियन बनी तो वहीं एक बल्लेबाज ऑरेंज कैप होल्डर बना। मगर आपको बता दें कि आईपीएल चैंपियन बनने और ऑरेंज कैप के बीच एक अलग ही कनेक्शन है। ऑरेंज कैप किसी खिलाड़ी के लिए पनौती से कम नहीं है।आईपीएल की ऑफिशियल वेबसाइट के मुताबिक, 2014 को छोड़ दिया जाए तो जो भी यह कैप पहनता है उसकी टीम फाइनल नहीं जीतती है। ये कैप उसको मिलती है जो सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाता है।

2019 - डेविड वार्नर
मौजूदा आईपीएल सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज डेविड वार्नर हैं। सनराइजर्स हैदराबाद की ओर से खेलते हुए वार्नर ने 12 मैचों में 692 रन बनाए। इस साल ऑरेंज कैप वार्नर के सिर सजी है मगर उनकी टीम फाइनल तक नहीं पहुंच पाई।
ipl 2019 final : ऑरेंज कैप पहनने वाला कभी नहीं जीतता खिताब,एक सीजन है अपवाद
2018 - केन विलियमसन
आईपीएल 2018 में सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन ऑरेंज कैप होल्डर रहे, उन्होंने इस सीजन 735 रन बनाए। मगर चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स बनी।

2017 - डेविड वार्नर
आईपीएल 2017 में ऑरेंज कैप बाएं हाथ के बल्लेबाज डेविड वाॅर्नर को मिली थी। उन्होंने पूरे टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा 641 रन बनाए थे। हालांकि उनकी टीम फाइनल नहीं जीत पाई। इस साल खिताब मुंबई इंडियंस के सिर सजा।

2016 - विराट कोहली
आईपीएल इतिहास में एक सीजन में सबसे ज्यादा रन अगर किसी ने बनाए हैं, तो वो हैं भारत के स्टार बल्लेबाज विराट कोहली। कोहली ने आईपीएल 2016 में आरसीबी की तरफ से खेलते हुए चार शतक के साथ कुल 973 रन बनाए। मगर खिताब सनराइजर्स हैदराबाद ले गई।
ipl 2019 final : ऑरेंज कैप पहनने वाला कभी नहीं जीतता खिताब,एक सीजन है अपवाद
2015 - डेविड वार्नर
साल 2015 में मुंबई इंडियंस दूसरी बार आईपीएल चैंपियन बनी थी। मगर इस साल ऑरेंज कैप सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाड़ी डेविड वार्नर के सिर पर सजी।

2014 - राॅबिन उथप्पा

राॅबिन उथप्पा आईपीएल के इकलौते बल्लेबाज हैं जो ऑरेंज कैप होल्डर होकर टीम को खिताब दिला दिया। साल 2014 में केकेआर चैंपियन बना था और उनकी टीम के बल्लेबाज उथप्पा ने सबसे ज्यादा 660 रन बनाए थे।

2013 - माइकल हसी
चेन्नई सुपर किंग्स के बल्लेबाज माइकल हसी ने आईपीएल 2013 में सबसे ज्यादा रन बनाए। उनके बल्ले से कुल 733 रन निकले। ऑरेंज कैप होल्डर हसी सर्वाधिक रन बनाने के बावजूद सीएसके को उस साल खिताब नहीं जिता सके और ट्राॅफी मुंबई इंडियंस के सिर पर सजी।

2012 - क्रिस गेल
आरसीबी की तरफ से कई आईपीएल सीजन खेले क्रिस गेल ने 2012 में भी तूफानी बैटिंग की थी। इस साल उनके बल्ले से खूब रन निकले। गेल ने पूरे टूर्नामेंट में जबरदस्त बैटिंग की। उन्होंने सबसे ज्यादा 733 रन बनाए और ऑरेंज कैप प्राप्त की। मगर उनकी टीम आरसीबी इस बार भी खिताब नहीं जीत सकी और ट्राॅफी कोलकाता की टीम ले गई।
ipl 2019 final : ऑरेंज कैप पहनने वाला कभी नहीं जीतता खिताब,एक सीजन है अपवाद
2011 - क्रिस गेल
साल 2011 में राॅयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बल्लेबाज क्रिस गेल का बल्ला खूब बोला। गेल ने पूरे टूर्नामेंट में कई आतिशी पारियां खेलीं। इस सीजन वह ऑरेंज कैप होल्डर भी रहे। बाएं हाथ के इस विस्फोटक बल्लेबाज ने 608 रन बनाए, मगर वह भी बैंगलोर टीम को चैंपियन नहीं बना सके। 2011 में चेन्नई सुपर किंग्स लगातार दूसरी बार चैंपियन बनी।

2010 - सचिन तेंदुलकर

आईपीएल 2010 एडिशन में खिताब भले चेन्नई सुपर किंग्स के नाम रहा, मगर चर्चा रही मुंबई इंडियंस के बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर की। सचिन ने इस सीजन सबसे ज्यादा रन बनाए। क्रिकेट के भगवान तेंदुलकर के बल्ले से 618 रन निकले। पूरे सीजन सचिन ने कई उपयोगी पारियां खेली मगर इसे ऑरेंज कैप की पनौती ही कहेंगे कि टूर्नामेंट में सर्वाधिक रन बनाने के बाद भी सचिन अपनी टीम को आईपीएल खिताब नहीं जिता पाए।

2009 - मैथ्यू हेडन

आईपीएल के दूसरे सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज मैथ्यू हेडन थे। चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ से खेलते हुए हेडन ने 572 रन बनाए। यही नहीं ऑरेंज कैप भी उनके सिर सजी मगर इस साल भी ऑरेंज कैप होल्डर खिलाड़ी अपनी टीम को चैंपियन नहीं बना सका। इस साल आईपीएल ट्राॅफी डेक्कन चार्जर्स के नाम रही।

IPL 2019 : जानिए कौन सी टीम कितनी बार फाइनल में पहुंची

जानें किस IPL में कौन सी टीमें पहुंची फाइनल में


2008 - शाॅन मार्श
पहला आईपीएल टूर्नामेंट 2008 में खेला गया। यह पहला सीजन था ऐसे में दर्शकों के साथ-साथ खिलाड़ियों में भी गजब का उत्साह था। इस साल कई बल्लेबाजों ने खूब तूफानी पारियां खेलीं, मगर ऑरेंज कैप सजी उस खिलाड़ी के नाम जो अब गायब हो चुका है। किंग्स इलेवन पंजाब ने ऑस्ट्रेलिया के शाॅन मार्श पर इनवेस्ट किया और इस खिलाड़ी ने पूरे सीजन ताबड़तोड़ 616 रन बनाए, खैर अब ये बदकिस्मती ही कहेंगे कि मार्श ऑरेंज कैप होल्डर के बावजूद अपनी टीम पंजाब को चैंपियन नहीं बना पाए। पहला खिताब राजस्थाॅन राॅयल्स ने जीता।