नई दिल्ली (जेएनएन)। देश के लिए खेलने का सपना संजोए बैठे महाराष्ट्र के दायें हाथ के बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव को उतनी पहचान नहीं मिली जिसके वह हकदार हैं। वह अपनी उपयोगी पारी खेलकर टीम को संकट की घड़ी से बाहर निकालने की काबिलियत रखते हैं। उन्होंने पहले भी कई बार कोलकाता नाइटराइडर्स को संकट की घड़ी से बाहर निकाला था। अब वह मुंबई इंडियंस के साथ ऐसा कर रहे हैं। बुधवार को वानखेड़े स्टेडियम में चेन्नई सुपर किंग्स के सामने मुंबई के खाते में सिर्फ आठ रन जुड़े थे और क्विंटन डिकॉक पवेलियन लौट गए थे। इसके बाद सूर्यकुमार ने एक छोर संभालते हुए अपनी टीम को संकट की घड़ी से बाहर निकालकर मजबूत आधार दिया। उन्होंने 59 रनों की पारी खेलकर चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ मुंबई के पांच विकेट पर 170 रन तक पहुंचने में अहम भूमिका निभाई। अंतिम ओवरों में हार्दिक पांड्या ने भी आठ गेंदों में 25 रन कूट कर टीम को अच्छे स्कोर तक पहुंचा दिया।

काम नहीं आया जाधव का अर्धशतक
जवाब में केदार जाधव (58) की साहसिक पारी भी चेन्नई सुपरकिंग्स को हार से नहीं बचा पाई और टीम 37 रनों से मुकाबला गंवा बैठी। चेन्नई के बल्लेबाजों को रोकने का काम हार्दिक (3/20) और अनुभवी तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा (3/34) ने किया। यह मुकाबला दोनों टीमों के अच्छे खिलाडि़यों के बीच था और ऐसे में चेन्नई को रोकना मुंबई के लिए आसान नहीं था लेकिन रोहित शर्मा की टीम ने मेहमान टीम को खेल के हर विभाग में पछाड़ दिया। इसके साथ ही चेन्नई के विजयी अभियान पर विराम लगा गया। टीम ने इससे पहले लगातार तीन मुकाबले जीते थे। वहीं, मुंबई इससे पहले किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ मुकाबला आठ विकेट हार गई थी। यह मुंबई की आइपीएल में 100वीं जीत है।
ipl 2019 में धोनी को मिली पहली हार,mi ने csk को 37 रनों से हराया
एक ओवर दो विकेट
33 रन पर तीन विकेट गंवाने के बाद धौनी और जाधव टीम की पारी को संभाल रहे थे लेकिन हार्दिक ने पारी के 15वें ओवर में धौनी (12) और रवींद्र जडेजा (01) को पवेलियन भेजकर टीम को करारे झटके दिए। इसके बाद मलिंगा ने पारी के 18वें ओवर में क्रीज पर सेट बल्लेबाज जाधव और ड्वेन ब्रावो को आउट चेन्नई की जीत उम्मीद पूरी तरह से तोड़ दी।

शानदार फार्म में हैं सूर्यकुमार यादव
इससे पहले सूर्यकुमार ने 2012 से 2017 तक सिर्फ एक पचासा लगाया था जबकि 2018 से अभी तक पांच अर्धशतक जड़ चुके हैं। 2018 में उन्होंने चार अर्धशतक लगाए थे जिसमें 14 मैचों में 512 रन कूटे थे। वह इस सत्र में चार मैचों में 110 रन बना चुके हैं। सूर्यकुमार ने अभी तक 73 मैचों में 133.11 के स्ट्राइक रेट से 1234 रन बनाए हैं जिसमें उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 72 रन हैं। वह अभी तक कुल छह अर्धशतक लगा चुके हैं। सूर्यकुमार का इस सत्र का शुरुआती मैच अच्छा नहीं रहा था और वह दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ सिर्फ दो रन पर आउट हो गए थे। इसके बाद रॉयल चैलेजंर्स बेंगलूर के खिलाफ 38 रनों की पारी खेली, लेकिन किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ 11 रनों पर आउट हो गए।

शुरुआती झटके
मुंबई की शुरुआत खराब रही और क्विंटन डिकॉक (04) को चाहर ने जाधव के हाथों कैच आउट कराकर पवेलियन भेज दिया। हालांकि अगले ओवर में सूर्यकुमार ने शार्दुल ठाकुर के ओवर में तीन चौके लगा दिए। पावरप्ले के शुरुआती छह ओवर में मुंबई का स्कोर एक विकेट पर 40 रन हो गया। जल्दी ही टीम के कप्तान रोहित शर्मा (04) को जडेजा ने धौनी के हाथों कैच आउट कराकर पवेलियन भेज दिया। रोहित के पीछे-पीछे युवराज सिंह (04) भी चले गए।

सूर्यकुमार और क्रुणाल की साझेदारी

क्रीज पर अकेले मोर्चा संभाल रहे सूर्यकुमार का साथ क्रुणाल पांड्या ने दिया। 10 ओवर तक मुंबई का स्कोर तीन विकेट पर 57 रन था। दोनों ने धीरे-धीरे अपनी पारी को आगे बढ़ाया। इस बीच, ड्वेन ब्रावो की गेंद पर मोहित शर्मा ने क्रृणाल का कैच छोड़ दिया। वह उस समय 18 रन पर खेल रहे थे। दोनों टीम की पारी को संभाल ही रहे थे कि इस सत्र में अपना पहल मैच खेल रहे तेज गेंदबाज मोहित शर्मा ने इस साझेदारी को तोड़ा। क्रुणाल (42) छक्के के प्रयास में जडेजा को कैच दे बैठे। दोनों ने चौथे विकेट के लिए 49 गेंदों में 62 रनों की साझेदारी की। सूर्यकुमार ने मोहित के ओवर की पांचवीं गेंद पर छक्का जड़कर अपना अर्धशतक पूरा किया।
ipl 2019 में धोनी को मिली पहली हार,mi ने csk को 37 रनों से हराया
अंतिम तीन ओवर
कीरोन पोलार्ड (नाबाद 17) और हार्दिक ने मुंबई के लिए अंतिम तीन ओवर में 51 रन कूट दिए और टीम का एक विकेट ही गिरा। पारी का आखिरी ओवर धौनी ने अपने मुख्य गेंदबाज ड्वेन ब्रावो को दिया, लेकिन दोनों विस्फोटक बल्लेबाजों ने उन्हें नहीं छोड़ा। इस ओवर में दोनों बल्लेबाजों ने 29 रन निकाले जिसमें तीन छक्के और एक चौका शामिल रहा। ब्रावो के ओवर की चौथी गेंद पर हार्दिक ने हेलीकॉप्टर शॉट लगाया जिससे देखकर धौनी भी दंग रह गए।

IPL 2019 : CSK में शामिल हुआ वो गेंदबाज, जो 'गंदी हरकत' के चलते जेल जाने से बचा था


जब IPL में एक गेंद पर लगे दो छक्के, दर्शक रह गए हक्के-बक्के