आगरा. जालसाज नेता शैलेन्द्र अग्रवाल के कई बडे़ पुलिस अधिकारियों से संपर्क की कहानी सामने आ चुकी है. इसके बाद ऐसे अन्य अधिकारियों की सांसे अटकी हुई हैं, जो जालसाज के नेटवर्क में थे. हालांकि इस मामले में कोई कुछ बताने को तैयार नहीं है, लेकिन जो चल रहा है, वो इस ओर इशारा कर रहा है, कि अधिकारी इस मामले को अब यहीं समाप्त करना चाहते हैं.

आईपीएस अधिकारी ने की थी बैठक की मांग

आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर ने ई-मेल और पत्र भेजकर आईपीएस एसोसिएशन की साधारण सभा की बैठक की मांग की थी. तीन दिन हो चुके हैं, लेकिन अभी तक न तो पत्र का कोई जबाव मिला है और न ही इस मामले में एसोसिएशन की ओर से कोई सकारात्मक जवाब मिला है. इस मामले में जब आईजी अमिताभ ठाकुर से बात की गई, तो उन्होंने बताया कि इस मामले में वे जल्द एसोसिएशन के अध्यक्ष और डीजी होमगार्ड रंजन द्विवेदी से मिलेंगे.

अधिकारियों ने ली राहत की सांस

शैलेन्द्र प्रकरण में अब तक दो पूर्व डीजीपी के नाम प्रकाश में आ चुके हैं. कई आईपीएस अधिकारियों के नाम पुलिस जांच में चल रहे हैं. सूत्रों की मानें तो अब शैलेन्द्र के नेटवर्क में रहने वाले अधिकारी चाहते हैं, कि यह मामला कैसे भी अब शांत हो जाए, जिससे उनकी जान बच सके. ऐसे अधिकारियों ने हाल में मामला ठंडा पड़ने से राहत की सांस भी ली है. आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर ने बताया कि एसोसिएशन की बैठक अब तक नहीं हो सकी है. इस संबंध में जल्द ही आईपीएस एसोसिएिशन के अध्यक्ष रंजन द्विवेदी से मुलाकात की जाएगी.