- सपा नेता के लेटरहैड पर अवैध कालोनियों में लगे 24 सोडियम लाइट

-पूर्व में भी कई मामले आ चुके हैं सामने, एमडीए की कार्रवाई सिफर

MEERUT: एमडीए के बिजली अनुभाग में धांधली थमने का नाम नहीं ले रही है। अभी पांच अवैध कालोनियों में अवैध लाइट लगवाने का मामला अभी ठंडा नहीं पड़ा था, कि दर्जन भर अवैध कालोनियों में दो दर्जन से अधिक लाइटों को और स्वीकृति दे दी गई। इस बार एमडीए ने एक सपा नेता के लैटरहैड पर दो दर्जन सोडियम लाइट लगवाने की कार्ययोजना तैयार की है।

अवैध कालोनियों में विकास

दरअसल, सपा के महानगर अध्यक्ष आदिल चौधरी ने अपने 18 लैटरहैड पर शहर की कई कॉलोनियों में हाई मास्ट लाइट और स्ट्रीट लाइट लगाने के लिए एमडीए के अधिकारियों को लिखा था। अपने प्रस्ताव में सपा नेता ने जाहिदपुर, पिल्लोखड़ी, नूरनगर, श्यामनगर, बागपत रोड, शिव मंदिर, लिसाड़ी गेट, हुमायूं नगर, ईदगाह, समर गार्डन, वार्ड-75, वार्ड -07, काजीपुर, ईदगाह, हाजीपुर, घोसीपुर आदि स्थानों पर लाइट की मांग की थी। अवैध कालोनी में विकास कार्य कराए जाने की जानकारी पर आई नेक्स्ट ने एमडीए के इस कारनामे का खुलासा किया था, जिसके बाद यह प्रस्ताव कैंसल कर दिया गया था। एमडीए ने अब इस प्रस्ताव का पुन: संज्ञान लेकर प्रस्ताव का हरी झंडी दे दी है।

बॉक्स --

केस वन -

बागपत रोड स्थित मुल्तान नगर, यादव कालोनी और रतन नगर आदि अवैध कालोनियों में डेढ़ लाख की 20 सोडियम लाइट लगाने का टेंडर किया जारी।

केस टू -

मवाना रोड स्थित अवैध कालोनी तिलकपुरम में सवा लाख रुपए से लगवाई हाई मास्ट लाइट।

केस थ्री -

मवाना रोड स्थित एक और प्राइवेट कालोनी गंगा धाम में एक लाख की हाई मास्ट लाइट को दी स्वीकृति।

प्राइवेट या अवैध कालोनी में विकास कार्य नहीं कराए जा सकते हैं। बिल्डर के भाग जाने या फिर विशेष परिस्थितियों में बाह्य विकास निधि से कुछ एक विकास कार्य कराया जा सकता है। इस मामले की जांच कराई जाएगी।

-राजेश यादव, सचिव एमडीए