छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: तुरियाबेडा स्थित ब्लू बेल्स इंग्लिश स्कूल में बुधवार को संस्कारशाला का आयोजन किया गया. इसमें कक्षा छह से लेकर 10वीं तक के बच्चे शामिल हुए. कार्यक्रम की शुरुआत में स्कूल की प्रिंसिपल शुभ्रा सरकार ने बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि हमारे दैनिक जीवन में संस्कार का अत्यंत महत्व है, आज के बच्चे निश्चित रूप से पढ़ लिखकर ऊंचे-ऊंचे पद पर कार्यरत हैं, पर इनमें प्राय: संस्कार की कमी दिखती है. हम अपेक्षाओं के अंबार के भ्रमजाल में फंसे हैं, जिससे हम संस्कार के बीज बच्चों में सही ढंग से नहीं भर पा रहे. उचित यह होगा कि बच्चे कुछ बनने से पहले संस्कारी जरूर बनें. जिससे एक नव समाज का निर्माण होगा. स्कूल के चेयरमैन शरबन सिंह ने दैनिक जागरण संस्कारशाला की तारीफ करते हुए कहा कि दैनिक जागरण ने जो संस्कारी समाज बनाने का बीड़ा उठाया है, वह सच में काबिले तारीफ है. प्रतिवर्ष 12 लाख से ज्यादा बच्चे इस अभियान से जुड़ रहे हैं, यकीनन इससे आने वाले समय में समाज के युवा संस्कारी बनेंगे. उन्होंने कहा कि स्कूल में संस्कार से जुड़ी रचनाएं व आर्टिकल हम स्कूल में हमेशा बच्चों को पढ़ाते हैं. हमारी भी नैतिक जिम्मेदारी है कि जागरण के इस संस्कारशाला को बच्चों के घर-घर तक पहुंचाएं. कार्यक्रम को सफल बनाने में वीपी सिंह, एस चौधरी, मेनका सिशोदिया के साथ-साथ सभी शिक्षकों का योगदान सराहनीय रहा.