कोई सिविल की तैयारी, तो कोई कर रहा था लॉ की पढ़ाई

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: कोई घरवालों का सपना पूरा करने के लिए सिविल सर्विसेज की तैयारी में जुटा था, तो कोई लॉ की पढ़ाई कर वकालत के क्षेत्र में करियर संवारने की तैयारी में था. लेकिन गलत संगत ने तास के 52 पत्तों का बाजीगर बना दिया. ये बाजीगरी तब भारी पड़ी जब करियर संवारने का सपना लेकर आए ये युवा जेल पहुंच गए. जार्जटाउन थाना क्षेत्र में बुधवार की रात पुलिस की रेड में पकड़े गए जुआरियों में ज्यादातर युवक सिविल सर्विसेज के अभ्यर्थी या लॉ के स्टूडेंट्स थे. कई बिजनेस मैन भी थे. पुलिस ने गुरुवार को सभी को जेल भेज दिया.

गलत संगत ने किया गुमराह

पुलिस के हत्थे चढ़े 17 जुआरियों को एसएसपी नितिन तिवारी ने मीडिया के सामने पेश किया. पकड़े गए लोगों में सुमित चन्द्र जायसवाल कालीन व्यवसायी है. बर्खास्त सिपाही प्रबल प्रताप ंिसंह प्रापर्टी डीलर है. इनके अलावा विवेक पुत्र मदन व सत्येन्द्र लॉ की पढ़ाई कर रहे हैं. सौरभ मिश्रा, सोमेश श्रीवास्तव, निखिलेश भी ग्रेजूएशन करने के बाद प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं. परितोष व सौरभ सिविल सर्विसेज की तैयारी कर रहे हैं. आनंद मिश्रा रेलवे में सर्विस करते हैं. अनिश और सानू आईआईटी करने के बाद सरकारी जॉब के लिए तैयारी कर रहे हैं. ऋषभ केसरवानी इलाहाबाद हाईकोर्ट के अधिवक्ता हैं. अन्य जुआरियों में अमितेन्द्र जायसवाल, शिवम् गुप्ता, अनिश कुमार, निखिलेश, आसिफ व मो. अदनान अलग-अलग व्यवसाय करते हैं. एसएसपी ने बताया कि इंस्पेक्टर जार्जटाउन संतोष कुमार शर्मा को दरभंगा कालोनी में जुआ की फड़ के बारे में जानकारी मिली. उन्होंने एसएसआई सर्वेश कुमार सिंह, चौकी प्रभारी जार्जटाउन प्रदीप कुमार, चौकी प्रभारी अल्लापुर धर्मेन्द्र कुमार, एसआई केके सरोज के साथ मौके पर पहुंचकर 17 लोगों को गिरफ्तार किया. पुलिस को इस दौरान मौके से क्रेटा, डिजायर जैसी कुल 4 लग्जरी कारे, 2 लाख 8 हजार रुपए, चार मोटर साइकिल व 18 महंगे मोबाइल मिले.