जिला प्रशासन और पुलिस मुस्तैद, अधिकारियों ने खंगाली व्यवस्थाएं और सुरक्षा इंतजाम

औघड़नाथ मंदिर पर कड़ी चौकसी, पुलिस, पैरा सुरक्षाबलों के अलावा मिलिट्री रहेगी तैनात

meerut@inext.co.in

MEERUT : मोदीपुरम, रुड़की, हरिद्वार से आने वाले लाखों कांवडि़ए मेरठ कैंट स्थित औघड़नाथ मंदिर पर गुरुवार जलाभिषेक करेंगे. कांवडि़यों के आगमन के मद्देनजर पुलिस-प्रशासन ने चौकसी का कड़ा बंदोबस्त औघड़नाथ मंदिर पर किया है. बड़ी संख्या में पुलिसबल के अलावा पैरा मिलिट्री फोर्स, खुफिया एजेंसियां, एटीएस, एनआईए कमांडो और मिलिट्री तैनात रहेगी. सैन्य क्षेत्र में स्थिति होने के चलते औघड़नाथ मंदिर परिसर पर सेना की तेज नजर रहती है. यहां आने वाले कांवडि़ए और श्रद्धालुओं के लिए व्यवस्था की जिम्मेदारी जिला प्रशासन की है.

यहां रहेगा ट्रैफिक डायवर्ट

एसपी ट्रैफिक संजीव बाजपेयी ने बताया कि श्रद्धालु जलाभिषेक के लिए टैंक चौराहे से माल रोड होकर एवं जादूगर चौराहे से सोफिया स्कूल की ओर मुड़कर रजबन बाजार व हनुमान चौक सदर से होते हुए औघड़नाथ मंदिर पहुंचेंगे. श्रद्धालु मंदिर तक पैदल ही जा सकेंगे. सुरक्षा के मद्देनजर कई स्थानों को ट्रैफिक को डायवर्ट किया गया.

यहां रहेगा बैरियर

1-नैनसी चौराहा सरकुलर रोड.

2-बालाजी मंदिर मोड वेस्ट एंड रोड.

3-मिलिट्री अस्पताल वेस्ट एंड रोड आर्मी एरिया.

4-हनुमान चौक बांबे बाजार.

पुलिस पिकेट्स

सुरक्षा के मद्देनजर 24 स्थानों पर पुलिस पिकेट्स को मुस्तैद किया गया है. डोरली पुल (पीएसी के पास), गोल भट्टा, रुड़की चुंगी, कंपनी गार्डन, रजबन पेट्रोल पंप, रजबन पुलिस चौराहा, सदर घंटाघर तिराहा, कैंटबोर्ड चौराहा, श्री औघड़नाथ मंदिर, एसएसडी तिराहा, प्लाजा सिनेमा, रोडवेज बस स्टैंड, मजार लेखानगर, आरवीसी चौपला, टैंक चौपला, यूनियन बैंक चौपला, नैंसी रोड चौपला, जैन विवाह मंडप तिराहा, हनुमान चौक, जादूगर चौपला, सोफिया रोड तिराहा, बेगमपुल, शिवचौक सदर, तिराहा लाल क्वार्टर पर पुलिस की अस्थायी पिकेट्स बनाई गई हैं.

सुरक्षा रहेगी कड़ी

1-एएसपी

2-सीओ

4-इंस्पेक्टर

10-सब इंस्पेक्टर

3-सब इंस्पेक्टर (महिला)

20-हेड कांस्टेबल

100-कांस्टेबल

100-महिला कांस्टेबल

इसके अलावा..

-16 सीसीटीवी कैमरों से औघड़नाथ मंदिर एवं आसपास की गतिविधियों पर नजर रखी जाएगी.

-एडीएम फाइनेंस आनंद कुमार शुक्ला को औघड़नाथ मंदिर सुरक्षा व्यवस्था का नोडल प्रभारी बनाया गया है. सभी एसीएम और वरिष्ठ पुलिस-प्रशासनिक अधिकारी रहेंगे मौजूद.

-मंदिर के दो मुख्य द्वारों से कांवडि़यों को प्रवेश किया जाएगा.

-मंदिर पर आने वाली डाक कांवड़ की गाडि़यों को नैंसी चौराहे पर पार्क कराया जाएगा. बेरीकेडिंग कर डाक कांवड़ के वाहनों को मंदिर की ओर जाने से रोका जाएगा.

-पिकेट्स के अलावा विभिन्न स्थानों पर मोबाइल ड्यूटी लगाई जाएगी, मंदिर के मुख्य द्वार और प्रांगण में सीसीटीवी की व्यवस्था होगी और उसका प्रसारण होता रहेगा जिससे भीड़ को नियंत्रित किया जा सके.

-मंदिर परिसर एवं बाहर, मेला क्षेत्र में कांवडि़यों के वेश में पुलिसबल तैनात रहेगा. कांवडि़यों की वेशभूषा में ड्यूटी के लिए 4 सेक्टर बनाए गए हैं. जिसमें हर टीम में एक-एक सब इंस्पेक्टर और 4-4 कांस्टेबल की ड्यूटी लगाई गई है.

-मंदिर के ऊपर एक वॉच टावर स्थापित किया गया है, यहां से दो शिफ्टों में दूरबीन और हैंडसेट के साथ पुलिसकर्मियों की ड्यूटी रहेगी.

-संवेदनशीलता के मद्देनजर बड़ी संख्या में एटीएस और एनआईए के कमांड़ो मंदिर परिसर और आसपास तैनात रहेंगे. मिलिट्री की खुफिया एजेंसी सक्रिय रहेगी तो वहीं बड़ी संख्या में सैन्यकर्मियों की तैनाती बेरीकेडिंग और मंदिर परिसर और आसपास रहेगी .

-ड्रोन कैमरों से मंदिर परिसर और आसपास की गतिविधियों पर नजर रखी जाएगी.

खंगाली सुरक्षा-व्यवस्था

शिवरात्रि के मद्देनजर डीएम अनिल ढींगरा और एसएसपी राजेश कुमार पाण्डेय ने औघड़नाथ मंदिर का दौरा किया. यहां सुरक्षा और व्यवस्था का निरीक्षण किया. औघड़नाथ मंदिर कमेटी द्वारा स्थापित शिविर और हेल्प डेस्क का उद्घाटन भी अधिकारियों ने किया. इससे पूर्व एडीजी मेरठ जोन प्रशांत कुमार ने एसपी सिटी रणविजय सिंह, सीओ कोतवाली सतपाल आंतिल के साथ कैंट क्षेत्र का दौरा किया. उन्होंने अधिकारियों को सुरक्षा चाक-चौबंद रखने के निर्देश दिए.