JAMSHEDPUR: स्टील सिटी में तीन दिनों से चल रही ऑटो चालकों की हड़ताल बुधवार शाम तीन बजे समाप्त हो गई. टेंपो चालकों के सड़क पर उतरने से यात्रियों ने चैन की सांस ली. गुरुवार से पहले की तरह ही टेंपो का संचालन होगा. हड़ताल के तीसरे दिन शिक्षित बेरोजगार ऑटो चालक-संचालक संघ के संरक्षक बन्ना गुप्ता व उपायुक्त अमित कुमार से वार्ता हुई. डीसी से 30 मिनट तक चली बातचीत में डीसी अमित कुमार टेंपो चालकों के कागजात तैयार करने में प्रशासन के सहयोग का आश्वासन दिया. उन्होंने कहा कि गुरुवार से कैंप लगाकर टेंपो चालकों की समस्याओं का समाधान किया जाएगा. जिसके बाद संरक्षक बन्ना गुप्ता ने बाहर निकलकर हड़ताल समाप्त करने की घोषणा कर दी. हड़ताल समाप्त होते ही चालक टेंपो लेकर सड़कों पर निकल पड़े. इससे पहले हजारों टेंपो चालकों ने उपायुक्त कार्यालय के समक्ष जोरदार प्रदर्शन किया.

मांगों पर अड़े रहे टेंपो चालक

पूर्व मंत्री बन्ना गुप्ता के संरक्षण में हड़ताली टेंपो चालक बुधवार को तीन बजे तक अपनी मांगों पर अड़े रहे. पूर्व मंत्री ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि जब तक प्रशासन शिविर लगाकर लाइसेंस, परमिट व फिटनेस प्रमाण पत्र नहीं देती है तब तक हड़ताल नहीं रुकेगी. उन्होंने कहा कि हम मोटर एक्ट के नियम के हिसाब से चलना चाहते है लेकिन पुलिस की बर्बता को हम बर्दाश्त नहीं करेंगे. उन्होंने कहा कि शहर में नये टेंपो के रजिस्ट्रेशन न करके पुराने रजिस्ट्रेशन पर ही वाहन खरीदने की अनुमति प्रदान की जाए. उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस जांच के नाम पर पांच हजार रुपये वसूल कर दो हजार रुपये की रसीद दे रही हैं जो कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

प्रशासन लगाएगा कैंप : डीसी

उपायुक्त अमित कुमार ने प्रतिनिधि मंडल से वार्ता कर हर संभव सहयोग करने का आश्वासन दिया है. उपायुक्त ने कहा कि ऑटो चालकों के कागजात बनवाने में प्रशासन सहयोग करेंगा इसके लिए गुरुवार से कैंप लगाया जाएगा. उन्होंने कहा कि ओवरलोडिंग किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी. उपायुक्त ने सुरक्षा के दृष्टिकोण से सभी ऑटो और वैन पर ड्राइवर का नाम, मोबाइल नंबर और ड्राइविंग लाइसेंस नंबर अंकित करने को कहा. साथ ही स्कूल ऑटो और वैन को वर्गीकृत करने के लिए रंगीन पट्टी लगाने का निर्देश दिया.

वार्ता में हुए फैसले

स्कूल वैन और ऑटो की जांच जारी रहेगी.

सभी ऑटो और वैन पर ड्राइवर का नाम, मोबाइल नंबर और ड्राइविंग लाइसेंस नंबर अंकित करना होगा.

स्कूल वैन और ऑटो को वर्गीकृत करने के लिए स्कूल वैन पर रंगीन पट्टी लगाना अनिर्वाय होगा.

ड्राइविंग लाइसेंस और परमिट के लिए जिला प्रशासन गुरुवार से लगाएगा कैंप.

ओवरलोडिंग के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई.

रांची तक पहुंची हड़ताल की हवा

शहर में तीन दिन से हड़ताल की हवा बुधवार को राजधानी रांची में पहुंच गई, राजधानी में खाद्य एवं उपभोक्ता मामले के मंत्री सरयू राय ने परिवहन मंत्री के कार्यालय में हुई की. बैठक में टेंपो चालकों की समस्याओं को देखते हुए निम्न विषय पर निर्णय लिए गए इस मौके पर परिवहन मंत्री, परिवहन सचिव, परिवहन आयुक्त, संयुक्त सचिव परिवहन एवं अन्य अधिकारी शामिल थे.

बैठक में ये हुए निर्णय

-टेंपो एवं अन्य हल्के वाहन चलाने के लिए कमर्शियल लाइसेंस की जरूरत नहीं होगी. इसकी सूचना सभी डीडीए को दे दी जाएगी.

-जमशेदपुर के लिए टेंपो का परमिट चाईबासा से मिलेगा. इसके लिए शहर में ही कैंप लगाकर परमिट के आवेदनों का निष्पादन होगा.

-गाडि़यों के फिटनेस में लग रहे फाइन मामले में बीच का कोई हल निकालने पर निर्णय हुआ

-स्कूली वाहनों के लिए सरकार नियमावली बनाएगी. इसमें दिल्ली, कर्नाटक सरकारों के प्रावधानों को शामिल करने पर विचार होगा.

वाहन हड़ताल समाप्त करने का मैं स्वागत करता हूं और इसके लिए सभी संबंधित लोगों को साधुवाद. हड़ताल की अवधि में जमशेदपुर के नागरिकों को हुई कठिनाई के लिए क्षमाप्रार्थी हूं. वाहन चालकों की समस्याओं को सुलझाने के लिए सरकार तत्पर है. उन्हें अपनी समस्याएं उचित मंच पर उचित तरीके से रखनी चाहिए. वाहन चालकों के यूनियन को भी अपने सदस्यों के हितों का ख्याल पहले रखना चाहिए. ऐसे संवेदनशील मामले पर निहित स्वार्थी राजनीति से ऊपर उठकर जनहित के दायरे में विचार करना चाहिए.

सरयू राय, मंत्री खाद्य एवं उपभोक्ता मामले राज्य सरकार

तीन दिनों की हड़ताल में आम आदमी को हुई परेशानियों के लिए क्षमा प्रार्थी हूं. हमारा आंदोलन अनुशासित रहा. उपायुक्त के साथ हुई वार्ता में सकारात्मक नतीजा निकला. आम आदमी की परेशानियों को देखते हुए और ऑटो चालकों की समस्याओं का समाधान का आश्वासन मिलने के बाद हड़ताल समाप्त हुई. आगे भी प्रशासन से सकारात्मक रवैये की अपेक्षा है.

-बन्ना गुप्ता, पूर्व मंत्री व संरक्षक, शिक्षित बेरोजगार ऑटो चालक-संचालक संघ