-शहर के अधिकांश मुख्य मार्ग रहे जाम, दिल्ली रोड पर हालत खराब

- लाख कवायद के बावजूद भी जाम में नहीं हो रहा सुधार

Meerut : बड़े-बड़े दावे, बड़ी-बड़ी कवायद. नतीजा सिफर. यूं तो नवंबर माह को ट्रैफिक पुलिस यातायात माह के तौर पर मना रहा है लेकिन सड़कों पर रेंग रहे वाहनों को देखकर ये लग रहा है कि सर्वाधिक सुस्ती पुलिस की इन्हीं दिनों है. आलम यह है कि सप्ताह का पहला वर्किग-डे होने के कारण सोमवार को भी शहर में जाम के हालात बदतर रहे. हर प्रमुख मार्ग पर दिनभर वाहन रेंगते रहे और जाम में फंसे लोग सिस्टम को कोसते नजर आए.

दिल्ली रोड पर मची परेशानी

जाम से सबसे ज्यादा प्रभावित इलाका दिल्ली रोड का रहा. पहले तो बेगमपुल पर जाम से रुबरु होना पड़ा और उसके बाद सोतीगंज मस्जिद चौराहे पर वाहनों की रफ्तार थम गई. जैसे-तैसे यहां से निकले तो केसरगंज पुलिस चौकी के पास भीषण जाम में रुकना पड़ा. यहां से करीब 10 से 15 मिनट में रेलवे रोड चौराहे तक पहुंचे तो यहां भी चारों तरफ वाहनों की कतार थी. यहां से आगे बढ़ने पर मेट्रो प्लाजा, शंकर चौक, नवीन मंडी के सामने, शॉपरिक्स मॉल चौराहे पर भी लोगों को जाम का सामना करना पड़ा

---

शहर में जाम नहीं, बल्कि कन्जंक्शन है. एक तरफ का ट्रैफिक निकालने के लिए दूसरी तरफ के वाहन तो रोकने ही पड़ेंगे. सबसे ज्यादा प्रभावित दिल्ली रोड का सर्वे भी किया गया. बेगमपुल से शॉपरिक्स मॉल के बीच 12 से 15 मिनट ट्रैफिक में रुकना पड़ता है.

-संजीव बाजपेयी, एसपी ट्रैफिक