क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ बिजली दर में संभावित बढ़ोतरी को लेकर प्रक्रिया शुरूकर दी गई है. इस सिलसिले में राज्य विद्युत नियामक आयोग की ओर से सभी पांच प्रमंडलों में जन सुनवाई आयोजित की जा रही है. बुधवार को पलामू प्रमंडल, 8 फरवरी को हजारीबाग, 9 फरवरी को दुमका, 12 फरवरी को रांची और 13 को चाईबासा में जन सुनवाई के मार्फत टैरिफ वृद्धि को लेकर लोगों की राय ली जाएगी. इस बाबत आयोग ने इच्छुक व्यक्ति, संस्था, उपभोक्ता समूह और विज्ञप्ति धारियों को जनसुनवाई में शामिल होकर लिखित, मौखिक, पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से सुझाव, आपत्ति देने का विकल्प दिया है. गौरतलब है कि एक अप्रैल से टैरिफ में इजाफा किया जाना है. इसे लेकर जेबीवीएनएल की ओर से नियामक आयोग में आवेदन दिया गया है.

30 परसेंट तक वृद्धि का प्रस्ताव

राज्य के पांचों प्रमंडल में जनसुनवाई के बाद ही टैरिफ बढ़ोतरी पर अंतिम फैसला लिया जाता है. झारखंड राज्य बिजली वितरण निगम की ओर से कुछ दिन पूर्व ही नियामक आयोग में आवेदन देकर 20 से 30 प्रतिशत तक टैरिफ में बढ़ोतरी का प्रस्ताव दिया है. हालांकि जनसुनवाई के बाद ही टैरिफ वृद्धि में कितनी बढ़ोतरी हो इसका निर्णय लिया जाता है.

120 दिनों तक चलता है प्रॉसेस

झारखंड राज्य बिजली वितरण निगम की ओर से नियामक आयोग में आवेदन दिए जाने के 120 दिनों के अंदर नयीं टैरिफ का निर्धारण कर दिया जाता है. आयोग की ओर से पहले राज्य सलाहकार समिति की बैठक बुलाई जाती है और फिर जन सुनवाई आयोजित कर लोगों की बिजली बिल बढ़ोतरी पर राय भी ली जाती है. जनसुनवाई में मिले रायों की समीक्षा कर अप्रैल से बिजली की नई टैरिफ लागू की जाती है.

नियामक आयोग की जनसुनवाई

कब कहां

6 फ रवरी मेदिनीगर

8 फ रवरी हजारीबाग

9 फ रवरी दुमका

12 फ रवरी रांची

13 फ रवरी चाईबासा