JAMSHEDPUR: घड़ी की सुई ने जैसे ही रात के 12 बजने का इशारा किया, नंद के घर आनंद हो गया. नंद के घर भगवान कृष्ण का जन्म हुआ. पूरा शहर घंटा, घडि़याल, शंख और जयघोष से गूंज उठा. लौहनगरी के मंदिरों में भक्तों का तांता लगा. शहर में रविवार की रात को जागरण हुआ. कहीं भजन हो रहे थे तो कहीं सांस्कृतिक कार्यक्रम. कहीं प्रतियोगिताएं हो रही थीं तो कहीं गीता का पाठ. भगवान के जन्म लेने के बाद ही यह दौर समाप्त हुआ. शहर के तमाम मंदिरों के साथ ही लोगों ने अपने-अपने घरों में भी जन्माष्टमी उत्सव का आयोजन किया.

भक्तों को खूब झुमाया

गोलमुरी रिफ्यूजी कालोनी स्थित श्री कृष्ण मंदिर में दिल्ली से आए गायक प्रवीण साहनी ने श्रीकृष्ण के भजनों पर भक्तों को खूब झुमाया. कथावाचक महंत राधेश्याम द्विवेदी व उनके सहयोगियों ने श्रीकृष्ण की लीला का बखान अपने कथा के माध्यम से किया. राम प्रकाश सेठी ने भी कृष्णलीला का बखान किया. इसके पूर्व सुबह चार बजे प्रभात फेरी निकाली गई. फिर रात में भजन, प्रवचन का दौर चला. यहां सोमवार को नंदोत्सव एवं भजन संध्या का आयोजन किया जाएगा. जिसका उपरांत आरती प्रसाद का वितरण किया जाएगा. सात सितंबर को दोपहर एक बजे से श्री कृष्ण इच्छा तक भंडारा का आयोजन किया जाएगा. जबकि 11 सितंबर की शाम को श्रीकृष्ण मंदिर परिसर से शोभा यात्रा निकाली जाएगी.

भक्तों में प्रसाद वितरित

यहां भगवान के जन्म के बाद पंजीरी का प्रसाद भक्तों में वितरित किया गया. श्रीकृष्ण के लिए फूलों का झूला विशेष रूप से सजाया गया था. इसमें कृष्ण व राधा की मूर्तियों को रखा गया था. मंदिर के पुजारी कैलाशचंद्र शर्मा ने बताया कि मंदिर में सुबह से देर रात तक भारी भीड़ रही. यहां करीब 15 हजार से ज्यादा भक्तों ने पूजा-अर्चना की.

सजाया गया झूला

साकची कालीमाटी रोड स्थित श्री श्री मनोकामना नाथ मंदिर में विशेष रूप से झूला सजाया गया था. इस झूले में कृष्ण व राधा की मूर्तियां रखकर पूजा-अर्चना की गई. भक्तों के बीच प्रसाद व भोग का वितरण किया गया. यह जानकारी मंदिर के पुजारी प्रवीन पांडेय ने बताया कि यहां करीब दो हजार से ज्यादा भक्तों ने पूजा की.

आकर्षक विद्युत सज्जा

कपाली केंदडीह स्थित श्री श्री राधा कृष्ण मंदिर की विद्युत सज्जा की गई थी. भजन-कीर्तन चलता रहा. भगवान के जन्म के बाद भक्तों के बीच भोग व प्रसाद का वितरण किया गया.

कृष्ण की स्तुति की गई

शिव मंदिर गोलमुरी में रात नौ बजे से 12 बजे तक भजनों के माध्यम से भगवान कृष्ण की स्तुति की गई. भगवान के जन्म के बाद आरती हुई और प्रसाद वितरण किया गया. पूरे मंदिर की आकर्षक साज-सज्जा की गई थी. यहां भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी थी.

लगा रहा भक्तों का तांता

शीतला मंदिर साकची में श्री राधा-कृष्ण मंदिर की भव्य रूप से सजावट की थी. यहां भगवान श्रीकृष्ण की पूजा-अर्चना करने के लिए भक्तों का तांता लगा रहा. भगवान श्रीकृष्ण व राधा रानी के वस्त्र विशेष रूप से वृंदावन से मंगाए गए थे और श्रृंगार की सामग्री बनारस से मंगाई गई थी.

सोहर गाकर जन्मोत्सव मनाया

बिष्टुपुर-खरकई लिंक रोड स्थित परमहंस लक्ष्मीनाथ गोस्वामी मंदिर में रविवार को शाम से जन्माष्टमी की धूम शुरू हो गई थी, जबकि रात 12 बजे महिलाओं ने सोहर गाकर भगवान का जन्मोत्सव मनाया. मंदिर समिति के उपाध्यक्ष तृप्तिनाथ झा ने बताया कि इसके साथ ही मंदिर में रविवार को सुबह आठ बजे से चल रहे अष्टयाम (रामायण पाठ) का समापन सोमवार को सुबह 10 बजे होगा. इस अवसर पर कुंवारी भोजन व ब्राह्माण भोजन के बाद भोग वितरण किया जाएगा.

कल मनमोहक झांकियों की प्रस्तुति

छोटा गोविंदपुर के वीर कुंवर सिंह स्टेडियम में कृष्णा ब्वायज क्लब के जन्माष्टमी पूजा पंडाल का उद्घाटन नमन संस्था के संस्थापक अमरप्रीत सिंह काले और सुनीता शाह ने किया. पूजा का यह 12वां वर्ष है. इस वर्ष उगते सूर्य की आकृति का पंडाल बनाया गया है. मनमोहक विद्युत सच्जा की गई है. छोटे बच्चों के लिए झूले तथा खाने-पीने की कई दुकान लगाई गई हैं. सोमवार को प्रसाद वितरण किया जाएगा. मंगलवार को भक्ति संध्या और मनमोहक झांकियों की प्रस्तुति की जाएगी. पांच सितंबर को मटकी फोड़ कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा. विजेता को 11 हजार ईनाम दिया जाएगा. उद्घाटन समारोह में कमेटी के संरक्षक बंटी सिंह, विजय कुमार, नीरज दुबे, सानू सिंह, चंदन, राकेश, हेमंत आदि उपस्थित थे.

अखंड हरिनाम संकीर्तन

श्रीकृष्ण चैतन्य संघ कदमा में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर अखंड हरिनाम संकीर्तन का आयोजन हुआ. बच्चों के बीच चित्रांकन प्रतियोगिता हुई. मुख्य अतिथि अशोक खंडेलवाल ने बच्चों को पुरस्कार दिया.

श्याम भजन की प्रस्तुति

साई परिवार विश्व सेवा संसथान श्रीकृष्णा जन्माष्टमी धूमधाम से मनाई गई. विष्णु सहस्त्रनाम पाठ एवं श्री विष्णु 1008 नामार्चन किया गया. श्याम जागरण मंच सत्संग समिती ने श्याम भजन की प्रस्तुति की. रात 12 बजे भगवन कृष्ण का वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ जन्मोत्सव मनाया गया एवं झूलन सेवा की गई. आयोजन में चेयरमैन राजीव कुमार, अध्यक्ष अनूप रंजन, ट्रस्टी नूतन कुमारी, ट्रस्टी रश्मि नारायण, शिलेंद्र कुमार मिश्र, राज किशोर साहू, आदर्श मिश्र, अंजू शाह, भीम कर्मकार, रीना साहू आदि ने सक्रिय भूमिका निभाई.