-हरि मंदिर में फूल बंगला के लिए मंगाए गए बाहर से फूल, दो दिन पहले से चल रही तैयारी

-बांके बिहारी मंदिर से निकाली गई कलश यात्रा, वृंदावन से पोशाक पहनेंगे कान्हा

>BAREILLY :

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी महोत्सव को लेकर पूर्व संध्या पर ही शहर के मंदिरों में तैयारियां पूरी हो गई. मंदिरों को कान्हा के वेलकम के लिए इलेक्ट्रॉनिक झालर और फूलों से सजाए गए. मॉडल टाउन स्थित हरि मंदिर में इस बार समारोह की विशेषता फूल बंगला और इलेक्ट्रॉनिक झालर होगी. इसके लिए बाहर से फूल मंगाए गए हैं. संडे को मंदिर प्रबंध समिति के अध्यक्ष सतीश खट्टर, सचिव रवि छाबड़ा ने यह जानकारी दी. वहीं बांके बिहारी कल्याण समिति की तरफ से शाम को कलश यात्रा का आयोजन किया गया. जिसमें सैकड़ों महिलाओं ने हिस्सा लिया. पुलिस लाइंस के शिव मंदिर और इस्कॉन मंदिर को भी कृष्ण जन्मोत्सव के लिए सजाया गया है.

सफेद फूलों से बना है फूल बंगला

हरि मंदिर प्रबंध समिति के अध्यक्ष ने बताया कि मंदिर में दो दिन से बनाया जा रहा फूल बंगला आकर्षण का केन्द्र रहेगा. इसी में श्री कृष्ण जन्मोत्सव होगा. इसके लिए सफेद रंग के अधिक फूलों का प्रयोग किया गया है. इसके लिए कई वर्कर वृन्दावन से भी आए हैं. इस बार कान्हा की पोशाक और मुकुट भी वृंदावन से मंगाया गया है.

हरि मंदिर में 3 से 15 सितम्बर के कार्यक्रम

3 -सितम्बर श्री कृष्ण जन्मोत्सव कार्यक्रम सांय 7 बजे से, भगवान का प्राकट्योत्सव रात्रि 12 बजे तक

4-से 11 सितम्बर शाम पांच बजे से रात आठ बजे तक भागवत कथा मधुर काषिर््ण स्वामी और जगदानन्द जी से

12-सितम्बर से भजन एंव कीर्तन की रस भरी फुहार भजन गायक विनोद अग्रवाल

13-सितम्बर भजन संध्या नन्दू भैया

14- सितम्बर एक शाम बांके के नाम, युधिष्ठिर एवं सुनील मलिक से

15-सितम्बर संकीर्तन रसधारा एवं प्रवचन बुआदाती संकीर्तन मंडल

16-सितम्बर भजन संध्या निष्काम संकीर्तन मंडल बरेली

17-सितम्बर राधारानी प्राकट्योत्सव एवं संकीर्तन, बांके बिहारी महिला मंडल द्वारा. दोपहर 12 बजे से भंडारा.

बांके बिहारी मंदिर

शहर के शील चौराहा स्थित बांके बिहारी मंदिर में भी कान्हा के वेलकम की तैयारियां पूरी कर ली है. संडे को बांके बिहारी मंदिर से एक कलश यात्रा निकाली गई. जिसमें सैकड़ों महिलाओं ने भाग लिया. शोभायात्रा बांके बिहारी मंदिर से होकर केके हॉस्पिटल होती हुई राजेन्द्र नगर, जनकपुरी होती हुई शाम साढे़ सात बजे बांके बिहारी मंदिर पर पहुंची. बांके बिहारी मंदिर में जन्माष्टमी पर पूरे परिसर सहित शील चौराहे से लेकर स्वयंवर बारात घर के पास तक मंदिर को सजाया गया है. सड़क के दोनों तरफ लाइटें लगाई गई हैं. मंदिर के बाहर मेला लगेगा. मंदिर के दोनों तरफ स्टॉल सज गए हैं.

ये होंगे कार्यक्रम

3-सितम्बर जन्मोत्सव बांके बिहारी महिला संकीर्तन मंडल द्वारा, रात्रि 12 बजे आरती प्रसाद

5-से 11 सितम्बर तक श्रीमद भागवत कथा ज्ञान, मधुर का‌िर्ष्ण स्वामी और राजनीशानन्द द्वारा

12-भजन संध्या, विनोद अग्रवाल

13-भजन संध्या, नन्दू भईया

14-भजन संध्या, श्री राधा माधव संकीर्तन मंडल

15-संकीर्तन रसधारा, वैष्णो बुआदाती संकीर्तन मंडल

16-भजन संध्या, निष्काम संकीर्तन मंडल

17-सितम्बर सुबह साढे़ नौ बजे से राधारानी प्राकट्योत्सव एवं संकीर्तन एवं दोपहर 12 बजे से भंडारा