80 के दशक के बेहतरीन बल्लेबाज
कानपुर। 12 जून, 1957 को पाकिस्तान के कराची में जन्में जावेद मियांदाद एक बेहतरीन क्रिकेटर रहे। 80-90 के दशक में वह दुनिया के बेहतरीन बल्लेबाजों में गिने जाते थे। मियांदाद ने वैसे तो अपने पूरे करियर में कुल 357 इंटरनेशनल मैच खेले मगर साल 1986 में भारत के खिलाफ शारजाह में खेला गया एशिया कप फाइनल कोई नहीं भूल सकता। ईएसपीएन क्रिकइन्फो के डेटा के मुताबिक, इस मैच में मियांदाद ने आखिरी गेंद पर छक्का लगाकर पाकिस्तान को मैच जिताया था।

क्या हुआ था उस दिन
1986 में अस्ट्रेल-एशिया कप का फाइनल भारत और पाकिस्तान के बीच खेला गया था। पाकिस्तानी कप्तान इमरान खान ने टॉस जीतकर भारत को बल्लेबाजी का न्यौता दिया। भारत की तरफ से के. श्रीकांत और सुनील गावस्कर ओपनिंग करने मैदान पर आए। दोनों ने फर्स्ट विकेट के लिए 117 रन की शतकीय साझेदारी कर टीम को ठोस शुरुआत दिला दी। भारत का पहला विकेट श्रीकांत के रूप में गिरा जो 75 रन बनाकर आउट हुए। हालांकि थोड़ी देर बाद गावस्कर भी 92 रन पर पवेलियन लौट गए। तीसरे नंबर पर आए दिलीप वेंगसरकर ने भी 50 रन की पारी खेली। कप्तान कपिल देव मैच में कुछ खास नहीं कर सके और 8 रन बनाकर आउट हो गए। भारत ने निर्धारित 50 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 245 रन का स्कोर खड़ा किया।

आखिरी गेंद पर छक्का लगाकर जीता मैच
पाकिस्तान के लिए यह लक्ष्य आसान नहीं था। ओपनर बल्लेबाज मुदस्सर नजर 5 रन बनाकर ही आउट हो गए। वहीं मोहसिन खान 36 और रमीज रजा 10 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। 61 रन के कुल स्कोर पर पाकिस्तान के तीन विकेट गिर चुके थे। इसके बाद मैदान पर बैटिंग करने आए जावेद मियांदाद जो धीरे-धीरे टीम को लक्ष्य की तरफ ले गए। मैच का रोमांच आखिरी गेंद तक पहुंच गया। 50वां ओवर चेतन शर्मा फेंक रहे थे, पाकिस्तान को आखिरी गेंद पर जीत के लिए 4 रन की जरूरत थी। मियांदाद ने बल्ला घुमाया और गेंद बाउंड्री पार जाकर गिरी, पाकिस्तान यह मैच 1 विकेट से जीत गया।

दाऊद इब्राहिम के समधी हैं मियांदाद
आपको बता दें कि जावेद मियांदाद का संबंध अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम से है। दाऊद की बेटी माहरुख की शादी पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर जावेद मियांदाद के बेटे जुनैद मियांदाद से हुई है। यानी कि दाऊद और मियांदाद आपस में समधी हैं। जावेद मियांदाद का विवादों से भी नाता रहा है। मैदान पर भारतीय विकेटकीपर किरण मोरे के सामने उछलना हो या फिर रिटायरमेंट के बाद भारत के खिलाफ अजीबोगरीब बयान देना। मियांदाद हमेशा सुर्खियों में रहे।

चार सालों में एक बार दिखती है यह टीम, आते ही नंबर 1 इंग्लैंड को वनडे में हरा दिया

21 साल पहले खेला गया था वो क्रिकेट मैच, जिसमें एक टीम के 6 खिलाड़ी थे भाई-भाई

Cricket News inextlive from Cricket News Desk