BAREILLY। हाइवे पर एक बार फिर मानवता शर्मशार हुई, मंडे को एक शिक्षक स्कूल से छुट्टी के बाद स्कूटर से घर लौट रहे थे. तभी उनके स्कूटर को जेसीबी ने टक्कर मार दी, जिससे वह घायल होकर रोड पर गिर पड़े. उन्हें घायल देख परिचित महिला ने यूपी 100 पुलिस को फोन पर सूचना दी. सूचना मिलते ही पुलिस तो मौके पर पहुंची तो घायल हालत में शिक्षक चिल्ला रहे थे बचा लो.. बचा लो लेकिन यूपी 100 भी अन्य राहगीरों की तरह वीडियो बनाने में बिजी हो गई. सड़क हादसे में घायल को बचाने के लिए जो गोल्डन ऑवर होता है, उससे चूक गए. करीब एक घंटे बाद शिक्षक को इलाज के लिए बरेली भेजा गया. जहां पर गंभीर हालत में उनकी ट्यूजडे सुबह चार बजे मौत हो गई.

जेसीबी ड्राइवर हाे गया फरार

अलीगंज थाना क्षेत्र के गांव राजपुर कलां निवासी इसरार अहमद 42 वर्ष बेहटा बुजुर्ग गांव के प्राइमरी स्कूल में प्रधानाध्यापक थे. वह स्कूल की छुट्टी के बाद स्कूटर से घर लौट रहे थे. वह जैसे ही बिशारतगंज मार्ग पर शिवनगर राजूपुर गांव के पास पहुंचे तभी सड़क पर जेसीबी ने उनकी स्कूटर में टक्कर मार दी. जिससे वह घायल होकर रोड पर गिर पड़े. गंभीर हालत में पड़े इसरार अहमद मदद की गुहार लोगों से लगा रहे थे, लेकिन उनकी मदद के लिए कोई नहीं आ रहा था. तभी आंवला से दवा लेकर गुजर रही संजय नगर निवासी राजो ने उन्हें घायल हालत में देखा तो उसने यूपी 100 को सूचना दी, और लोगों से मदद मांगी. लेकिन मदद के लिए तो कोई नहीं आया भीड़ वीडियो बनाकर वायरल करने में जुटी रही. यूपी 100 पुलिस पहुंची तो पुलिस भी आम पब्लिक की तरह वीडियो बनाने में जुट गई, उसके बाद घायल शिक्षक को हॉस्पिटल भेजा, जहां पर इसरार की इलाज के दौरान मौत हो गई. मृतक के भाई इमरान ने बताया कि इसरार के परिवार में पत्नी शमां है.