-कुंभ के दौरान गंगा में गिरने वाले नालों पर निगरानी रखने के लिए जल निगम द्वारा 16 जेई किए गए तैनात

-बायो रैमिडिएशन तकनीक के प्रयोग को लेकर कंपनी, जल निगम अधिकारियों और प्रमुख सचिव की वर्कशॉप आज

kanpur@inext.co.in

KANPUR : गंगा में गिरने वाले नालों पर कड़ी निगरानी रखने के लिए शासन के निर्देश पर जल निगम ने जूनियर इंजीनियर्स की तैनाती की गई है. बिजनौर से लेकर बलिया तक गंगा में गिरने वाले सभी 226 नालों पर जेई तैनात किए गए गए हैं. इसी के तहत कानपुर में 16 नालों पर 16 जेई तैनात किए गए हैं. इन्होंने अपना कार्य शुरू भी कर दिया है. वहीं टैप न होने वालों पर बायो रेमिडिएशन तकनीक का प्रयोग करने की वर्कशॉप प्रमुख सचिव नगर विकास मनोज सिंह की अध्यक्षता में लखनऊ में आयोजित होगी, जिसमें कानपुर सहित इलाहाबाद, बनारस के अधिकारी, कार्य करने वाली कंपनी और प्रमुख सचिव भी मौजूद रहेंगे.

गंगा में गिर रहे 16 नाले

गंगा में गिरने वाले सभी 16 नालों में प्रमुख रूप से परमिया नाला, म्योर मिल नाला, जेल नाला, गोलाघाट नाला, सत्ती चौरा नाला, डबका नाला, सीसामऊ नाला सहित अन्य नालों पर नजर रखी जाएगी. जेई को निर्देश दिए गए हैं कि कुंभ के दौरान गंगा में नाला गिरने पर फौरन एक्शन लेकर नाला को गंगा में गिरने से रोकने के लिए उपाय करेंगे. तैनात जेई की लिस्ट शासन को भी सौंप दी गई है. इनकी तैनाती को चेक करने के लिए औचक निरीक्षण भी किया जाएगा.

शासन के निर्देश पर कानपुर के अंदर गंगा में गिरने वालों सभी 16 नालों पर 16 जेई की तैनाती कर दी गई है. मॉनिटरिंग का कार्य भी शुरू कर दिया गया है.

-आरके अग्रवाल, जीएम, जल निगम.

-------------

ग्वालटोली नाला डायवर्ट करने के लिए काम पूरा.. फोटो

सीसामऊ नाला डायवर्ट करने की राह रोड़ा बने ग्वालटोली नाला को डायवर्ट करने के लिए फ्राइडे को कार्य पूरा कर लिया गया. प्रोजेक्ट मैनेजर घनश्याम द्विवेदी ने बताया कि नाला को डायवर्ट करने के लिए चैनल लगाने का कार्य पूरा कर दिया गया है. सैटरडे सुबह नाला को डायवर्ट किया जाएगा. वहीं सीसामऊ नाला को डायवर्ट करने के लिए फ्राइडे को भी 2 पंपों से लगातार टेस्टिंग की जाती रही और सफलतापूर्वक सीवेज को जाजमऊ एसटीपी तक भेजा जाता रहा.

---------------

एमडी के साथ हुई बैठक

फ्राइडे को शासन में जल निगम के एमडी अनिल कुमार श्रीवास्तव के साथ जल निगम जीएम की मीटिंग हुई. जिसमें नाला को डायवर्ट करने के की पूरी रिपोर्ट ली गई. जीएम द्वारा बताया गया कि 95 परसेंट सीसामऊ नाला डायवर्ट करने का कार्य पूरा कर लिया गया है.