-सीबीगंज के खलीलपुर में मां के साथ दुकान से लौटा रहा था घर

-घर के पास बाइक सवार तीन बदमाशों ने दिया वारदात को अंजाम

<-सीबीगंज के खलीलपुर में मां के साथ दुकान से लौटा रहा था घर

-घर के पास बाइक सवार तीन बदमाशों ने दिया वारदात को अंजाम

BAREILLY: BAREILLY: सीबीगंज थाना अंतर्गत खलीलपुर में सरेशाम बाइक सवार तीन बदमाशों ने मां के साथ घर लौट रहे ज्वैलर्स के साथ लूट लिया. बदमाशों ने विरोध करने पर ज्वैलर को गोली मार दी. गोली पेट में लगी है. पुलिस ने ज्वैलर को डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में एडमिट कराया है. बताया जा रहा है कि हॉस्पिटल में डॉक्टर्स ने आधा घंटा तक इलाज नहीं दिया. बैग में भ्0 हजार रुपए नकद, ढाई सौ ग्राम सोना और ढाई किलो चांदी की ज्वैलरी थी. एसएसपी जोगेंद्र कुमार, एसपी सिटी समीर सौरभ व अन्य पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल में जुट गए हैं. पुलिस आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है.

घर के सामने हुई वारदात

गौरव वर्मा की शिवज्ञान इंटर कॉलेज खलीलपुर रोड के पास गौरव ज्वैलरी के नाम से शॉप है. शॉप पर मां सुधा देवी भी बैठती हैं. वह शाम को दुकान बंद कर मां के साथ बाइक से घर लौट रहे थे. रास्ते में सामान खरीदने के बाद वह जैसे ही घर के सामने पहुंचे और मां गेट के अंदर चली गई. तभी बाइक सवार बदमाशों ने कंधे पर टंगा बैग छीनना शुरू कर दिया. जब गौरव ने विरोध किया तो बदमाशों ने फायरिंग कर दी. गोली लगने से दोनों बाइक से गिर गए, जिसमें गौरव बेहोश हो गए. दिनदहाड़े वारदात से दहशत फैल गई. सूचना पर पुलिस पहुंची और जांच पड़ताल की. सनद रहे कि ज्वैलर के साथ ब् साल पहले भी लूट की वारदात हुई थी. वहीं, ज्वैलर्स एसोसिएशन ने वारदात का खुलासा न होने पर मार्केट बंद करने की चेतावनी दी है.

ज्वैलर्स से लूट की वारदात हुई है. सीसीटीवी फुटेज खंगाली जा रही है. क्राइम ब्रांच को भी लगाया गया है.

जोगेंद्र कुमार, एसएसपी बरेली

ख्-----------------------

टोलकर्मी से लूट, एक गिरफ्तार

फतेहगंज पश्चिमी थाना अंतर्गत टोलकर्मी से सैटरडे रात तीन बदमाशों ने रुपयों से भरा बैग छीन लिया. टोलकर्मी ने इसके बावजूद हिम्मत नहीं हारी और पीछा कर एक बदमाश को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया. अब पुलिस बदमाश के फरार साथियों की तलाश में जुटी हुई है. टोल कर्मी नीलेश सिंह , चौलापुर कैथोर वाराणसी का रहने वाला है. वह फतेहगंज पश्चिमी टोल प्लाजा पर टिकटकर्मी के तौर पर तैनात है. वह होली पर घर गया था. सैटरडे रात में वह परिवहन निगम बस से साढ़े क्0 बजे उनासी चौराहा पर उतरा. वह पैदल अपने कमरे पर जाने लगा कि तभी तीन बदमाशों ने उसका रास्ता रोक लिया. बदमाशों ने उसे जान से मारने की धमकी देकर उसका बैग, मोबाईल व लगभग पंद्रह सौ रुपए छीन लिए. उसने एक बदमाश को दौड़ाकर पकड़ लिया. पकडे गए बदमाश की पहचान लीची बाग किला निवासी कासिम के रूप में हुई है. उसके दो साथियों की पहचान आरिफ और अतीक के रूप में हुई है.