आई स्पेशल

VARANASI

पितृ पक्ष की समाप्ति के बाद जैसे ही नवरात्र चढ़ेगा तो ज्वेलरी मार्केट में भी बूम दिखेगा. बहुत से लोग नवरात्र में ज्वेलरी की खरीदारी करते हैं. इसके लिए लोगों का कुछ ज्वेलरी शोरूम्स में ऑफर के साथ न्यू डिजांइस की ज्वेलरी पर ध्यान भी लगा रहता है. लेकिन अब आपको बता दें कि यदि ज्वेलरी खरीदने जा रहे हैं और बजट आपका भ्0 हजार पार का है तो अपने साथ आधार व कोई आईडी भी रख लीजिएगा. क्योंकि अब भ्0 हजार से अधिक के ट्रांजेक्शन पर आधार कार्ड देना अनिवार्य कर दिया गया है. मनी लांड्रिंग एक्ट के तहत सरकार ने सभी ज्वेलर्स को सर्कुलर जारी कर इसे फॉलो करने का निर्देश दिया है. वहीं दो लाख से अधिक के गहने की खरीद पर केवाईसी रूल्स के तहत पैनकार्ड जरूरी किया गया है. इस नियम को लेकर ज्वेलरी स्टोर्स की ओर से कस्टमर्स को एसएमएस के थ्रू जानकारी भी दी जा रही है.


तब दोनों का आधार जरूरी

यदि आपके पास आधार कार्ड नहीं है तो ऐसे में फैमिली में किसी और के नाम पर ज्वेलरी खरीद सकते हैं. बिल आपके नाम से कटेगा लेकिन जो पेमेंट करेगा आधार नंबर उसका लगेगा. यदि बिल अपने नाम से कटा लिए लेकिन पैसा कोई और कार्ड या चेक से दे रहा है तो उसका भी आधार नंबर व आईडी जरूरी है.

हमारे यहां तो भ्0 हजार से अधिक के ट्रांजेक्शन पर आधार संग एक आईडी ली जा रही है. बाकायदा कस्टमर्स को एसएमएस भेजकर रूल्स के बारे में जानकारी भी दी जा रही है.

शुभम केशरी, मैनेजर, तनिष्क, रथयात्रा स्टोर

आधार सहित कुल पांच तरह की आईडी जरूरी की गई है. भ्0 हजार से अधिक की खरीदारी पर कस्टमर्स को कोई एक आईडी दिखाना पड़ेगा.

मयंक अग्रवाल, अधिष्ठात, कन्हैया स्वर्ण कला केंद्र

यह आईडी है जरूरी

-आधार कार्ड

-पैनकार्ड

-नरेगा कार्ड

-वोटर आईडी

-डीएल

-पासपोर्ट

-भ्0 हजार से अधिक की खरीदारी पर ही लगेगा आईडी