ranchi@inext.co.in - RANCHI(14 Jan): खूंटी जिले के एक चौदह साल की लड़की को दिल्ली के डॉक्टर द्वरा कथित रूप से प्रताडि़त करने के मामले को मुख्यमंत्री रघुवर दास गंभीरता से लिया है. उन्होंने लड़की के साथ अत्याचार और क्रूर व्यवहार की भ‌र्त्सना करते हुए कहा कि झारखंड की बेटी पर हुए अत्याचार से मन व्यथित है. मुख्यमंत्री राहत कोष से बच्ची को एक लाख रुपए की सहायता राशि दी जाएगी. फिलहाल नई दिल्ली में क्रूरता और अत्याचार पीडि़ता झारखंड की नाबालिग लड़की का दिल्ली स्थित अपोलो अस्पताल में इलाज चल रहा है. उन्होंने कहा कि दोषियों को हर हाल में कड़ी सजा दिलाई जाएगी.

बच्ची के इलाज को निर्देश

साथ ही मुख्यमंत्री ने नई दिल्ली स्थित झारखंड भवन के प्रिंसिपल रेजिडेंट कमिश्नर को बच्ची की समुचित देखभाल और इलाज सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया है. उन्होंने कहा कि बच्ची को जल्द से जल्द उनके परिवार से मिलाया जाएगा. साथ ही उस पर अत्याचार करने वालों के विरुद्ध कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की कार्रवाई की जाएगी. गौरतलब हो कि खूंटी के मुरहू इलाके की नाबालिग बच्ची दिल्ली के मॉडल टाउन स्थित एक महिला डॉक्टर के यहां काम करती थी. दिल्ली पुलिस ने आरोपी डॉक्टर को गिरफ्तार कर लिया है. पीडि़ता के हर अंग पर चोट के निशान पाए गए हैं.