क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : राज्य सरकार ने हर परिवार के मुखिया के नाम पर हेल्थ कार्ड बनाने का फैसला किया है. इस कार्ड के जरिए सरकार द्वारा चिन्हित अस्पतालों में वे मुफ्त इलाज करा सकेंगे. इससे 57 लाख परिवारों को जोड़ने का टारगेट रखा गया है. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने बुधवार को लातेहार के राजहार स्थित गुरूकुल में प्रधानमंत्री उच्जवला योजना के तहत नि:शुल्क रसोई गैस कनेक्शन वितरण कार्यक्त्रम में ये बातें कही. उन्होंने कहा कि 25 सितंबर से पूरे देश में आयुष्मान भारत के तहत प्रधानमंत्री आरोग्य योजना शुरु किया जा रहा है. इस योजना के तहत देश के गरीबों का सरकार 5 लाख रूपये की स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराएगी.

चलेगा अभियान

सीएम ने कहा इस योजना के तहत 17 सितंबर से 25 सितंबर तक हेल्थ कार्ड बनाने का कार्य एक अभियान के रूप में चलाया जायेगा. जिसमें हर गरीब का एक हेल्थ कार्ड बनेगा. उन्होंने कहा कि सबका साथ सबका विकास, इसी सोच को लेकर केन्द्र एवं राज्य सरकार योजनाएं बना रही है

अंतिम व्यक्ति तक योजना का लाभ पहुंच सके.

किसानों की आय होगी दोगुनी

झारखंड सरकार द्वारा 26 किसानों को इजराइल भेजा गया है. वहां पानी की कमी के बाद भी अच्छी खेती की जा रही है. राज्य सरकार अक्टूबर तक राज्य से और किसानों को भी इजराइल भेजेगी जहां से वे खेती के नवीन तकनीक सीख सकें और अपने आसपास के लोगों को भी शिक्षित कर सकें.

2 अक्टूबर से स्वच्छता ही सेवा कार्यक्त्रम

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2 अक्टूबर से राज्य में स्वच्छता ही सेवा कार्यक्त्रम का शुभारंभ किया जाएगा.जिसके तहत शहर एवं गांव को स्वच्छ बनाने का कार्य होगा. उन्होंने कहा कि राज्य को साफ व स्वच्छ रखने में आम लोग भी सहयोग करें.

सीएम ने गिनाई ये उपलब्धियां

35 लाख परिवारों को गैस कनेक्शन

मुख्यमंत्री ने कहा कि अन्य राज्यों द्वारा इस योजना में केवल गैस सिलेंडर दिए जा रहे हैं लेकिन हमारी सरकार द्वारा महिलाओं के हित के लिए चूल्हा और पहली बार का गैस सिलेंडर का रिफिल की राशि भी दे रही है. उन्होंने कहा कि राज्य में 35 लाख परिवारों को इस योजना के तहत कनेक्शन वितरित करने का लक्ष्य है जिसमें 17 लाख परिवारों को गैस कनेक्शन दिया जा चुका है.

1 रुपए में रजिस्ट्री करा चुकी हैं 91 हजार महिलाएं

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार महिलाओं को स्वालंबन की दिशा में ले जाने के लिए 50 लाख की जमीन निबंधन के लिए महज एक रूपये का शुल्क निर्धारित किया है. जिसके तहत अब तक राज्य के 91 हजार महिलाओं के नाम 50 लाख तक की संपति की रजिस्ट्री की गई है.

दो अक्टूबर 18 तक बनेगा स्वच्छ झारखंड

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2022 तक हर गरीब को छत प्राप्त कराना हमारा लक्ष्य है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री का सपना है कि 2 अक्टूबर 2019 तक स्वच्छ भारत का निर्माण हो जाए. हमारा लक्ष्य है कि 2 अक्टूबर 2018 तक हम एक स्वच्छ झारखंड का निर्माण कर ले.