रांची: झारखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस अनिरुद्ध बोस सुप्रीम कोर्ट के जज बनाए गए हैं। इनके अलावा बॉम्बे हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस बीआर गवई, हिमाचल प्रदेश के चीफ जस्टिस सूर्यकांत और गुवाहाटी के चीफ जस्टिस एएस बोपन्ना को भी सुप्रीम कोर्ट का जज नियुक्त किया गया है। गुरुवार को सभी चारों जज शपथ ग्रहण करेंगे।

13 अप्रैल को ही मिली मंजूरी

सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम ने 13 अप्रैल को झारखंड हाईकोट के चीफ जस्टिस अनिरुद्ध बोस के नाम को मंजूरी प्रदान की थी। सुप्रीम कोर्ट कोलोजियम ने देश के कई जजों के नाम पर विचार किया था। मेरिट, वरीयता के आधार पर इन चार जजों के नाम पर सहमति प्रदान की गई। झारखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस अनिरुद्ध बोस 19 जनवरी 2004 को कोलकाता हाईकोर्ट के जज नियुक्त हुए थे। 11 अगस्त 2018 को वह झारखंड हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश बने थे।

सुप्रीम कोर्ट में 31 पद स्वीकृत

वर्तमान में सुप्रीम कोर्ट में न्यायाधीशों के टोटल 31 पद स्वीकृत हैं। इनमें से वर्तमान में 27 न्यायाधीश कार्यरत हैं। चार न्यायाधीशों के पद रिक्त हैं। झारखंड के चीफ जस्टिस अनिरुद्ध बोस देश के विभिन्न हाईकोर्ट के जजों की संयुक्त वरीयता लिस्ट में 12वें नंबर पर थे। जबकि चीफ जस्टिस बोपन्ना वरीयता सूची में 38वें नंबर पर थे। चीफ जस्टिस अनिरुद्ध बोस का जन्म 11 अप्रैल 1959 को हुआ था। लॉ की डिग्री हासिल करने के बाद उन्होंने वर्ष 1985 में वकालत का लाइसेंस लिया था। इसके बाद उन्होंने वकालत शुरू की। 19 जनवरी 2004 को उन्हें कोलकाता हाईकोर्ट का न्यायाधीश नियुक्त किया गया।