RANCHI: मानव तस्करी में पूरे देश में झारखंड सबसे आगे हैं. राज्य गठन से लेकर अबतक झारखंड से 708 बच्चे लापता हो चुके हैं. वहीं, झारखंड पुलिस ने पूरे देश में छापेमारी कर 598 बच्चों को बरामद भी किया है. इनमें से 226 बच्चे रेस्क्यू नहीं हो पाए हैं. इसके अलावा 16 बच्चे रेस्क्यू किए गए हैं या नहीं, इस बारे में भी कोई रिपोर्ट नहीं है. वहीं, रेस्क्यू किए गए 34 बच्चों के जिले का ही पता नहीं चल पाया है.

सीआईडी को बरामद करने जिम्मा

सीआईडी को मानव तस्करी के शिकार बच्चों को बरामद करने का एक टारगेट फिक्स किया गया है. पुलिस मुख्यालय की ओर से जारी निर्देश में यह कहा गया कि वे झारखंड से लापता बच्चों की सूची बनाकर रेस्क्यू करें और उन्हें उनके पैरेंट्स को सौंपे.

कहां से कितने बच्चे लापता

वेस्ट बंगाल 61

हरियाणा 02

यूपी 03

छत्तीसगढ़ 09

झारखंड 708

असम 02

बिहार 08

इंदौर 01

कानपुर 02

एमपी 01

ओडि़शा 07

राजस्थान 01

सीआईडी को विभिन्न एनजीओ की तरफ से एक लिस्ट मिलती है. उसी आधार पर सीआईडी सबका पहले जांच करती है, फिर रेस्क्यू करने के लिए एएचटीयू या संबंधित थाने के पदाधिकारी को कहा जाता है.

-बीएन सिंह, डीएसपी सह प्रवक्ता, सीआईडी

National News inextlive from India News Desk