lucknow@inext.co.in
LUCKNOW: धौरहरा संसदीय सीट से कांग्रेस प्रत्याशी जितिन प्रसाद और पूर्व राज्यसभा सदस्य नरेश अग्रवाल आचार संहिता के उल्लंघन में फंस गए हैं। धौरहरा संसदीय सीट से कांग्रेस प्रत्याशी व पूर्व मंत्री जितिन प्रसाद द्वारा बिना पूर्वानुमति के सीतापुर के हरगांव कस्बा स्थित पर्यटन विभाग के अतिथि गृह में बैठक को जिला प्रशासन ने बेहद गंभीरता से लिया है।

बढ़ सकती हैं मुश्किलें
मंगलवार को स्टैटिक मजिस्ट्रेट अभय कुमार ने जितिन प्रसाद के खिलाफ हरगांव थाने में आचार संहिता के उल्लंघन का मुकदमा दर्ज कराया है।बीते सोमवार को हरदोई के सांडी मार्ग पर श्रवण देवी मंदिर के पास स्थित मैदान में भाजपा का कार्यकर्ता सम्मेलन था, जिसमें पूर्व राज्यसभा सदस्य नरेश अग्रवाल ने गठबंधन को लेकर टिप्पणी की थी। उन्होंने कहा था कि गठबंधन तो पति-पत्नी के मध्य होता है न कि बुआ-भतीजा के मध्य। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से लेकर सांसद डिंपल यादव पर भी तंज कसा था।

उल्लंघन का नोटिस जारी किया
उक्त बयान को आयोग और मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय ने गंभीरता से लिया है। इस पर आचार संहिता प्रभारी अधिकारी सिटी मजिस्ट्रेट की ओर से आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन का उन्हें नोटिस जारी किया गया है। भाजपा नेता के जबाव और टीम की रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। गौरतलब है कि आचार संहिता के उल्लंघन पर दोनों नेताओं की मुश्किलें बढ़ सकती है।

लोकसभा चुनाव : चाैथे चरण में 9 राज्यों की 71 सीटों के लिए 9 अप्रैल तक होंगे नामांकन, अधिसूचना जारी

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए कांग्रेस का मेनिफेस्‍टो जारी, ये हैं उसकी मुख्‍य बातें