- इंटरनेशनल एयरपोर्ट के रूप में किया जा रहा डेवलप

- वर्तमान बिल्डिंग से आठ गुना बड़ी बिल्डिंग का निर्माण शुरू

- एयरपोर्ट से जल्द जुडे़ंगे पिथौरागढ़ और गौचर

देहरादून, जौलीग्रांट एयरपोर्ट को इंटरनेशनल एयरपोर्ट की शक्ल देने की कवायद शुरू हो गई है. एयरपोर्ट का एक्सटेंशन शुरू कर दिया गया है. एक्सटेंशन वर्क के अंतर्गत एयरपोर्ट की मौजूदा बिल्डिंग से 8 गुना बड़ी बिल्डिंग तैयार की जा रही है. बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन का काम शुरू कर दिया गया है.

सामरिक दृष्टि से अहम

जौलीग्रांट एयरपोर्ट का सामरिक महत्व भी है. राज्य चीन, नेपाल, भूटान की सीमा से सटा है. ऐसे में जौलीग्रांट को एक्टेंशन देना अहम हो जाता है. कई बार इसके एक्सटेंशन की मांग उठ चुकी है. इसी वर्ष फरवरी में सेना के सुखोई विमान ने एयरपोर्ट पर ट्रायल लैंडिंग भी की थी.

8 गुना बड़ी बिल्डिंग बनेगी

एयरपोर्ट के डायरेक्टर विनोद शर्मा ने बताया कि वर्तमान में मौजूद बिल्डिंग के आठ गुना बड़े भवन का निर्माण कार्य शुरू हो चुका है. निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है. दरअसल, पिछले साल दिसंबर में सांसद व पूर्व सीएम डा. रमेश पोखरियाल की अध्यक्षता में हुई जौलीग्रांट एयरपोर्ट एडवाइजरी कमेटी की बैठक हुई थी. उस दौरान कई जानकारियां शेयर की गई थी. जानकारों की मानें तो केंद्र सरकार भी जौलीग्रांट एयरपोर्ट को बड़े आकार देने के मूड है. उत्तराखंड की सीमाएं कई अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं से सटी हुई हैं.

जौलीग्रांट एयरपोर्ट

- रोजाना 20-22 फ्लाइट्स की आवाजाही.

- 2000 यात्री पहुंचते हैं रोज एयरपोर्ट.

- एयरपोर्ट का 24 घंटे संचालन की तैयारी.

- एयरपोर्ट के आस-पास से हटाए जाएंगे बड़े टावर.

रनवे का बढ़ाया जाएगा दायरा

रनवे का एक्सटेंशन करने के लिए वन विभाग से जमीन ली जाएगी. वर्तमान के 2100 मीटर लंबे रनवे को 2800 मीटर तक बढ़ाया जाएगा. एयरपोर्ट के अधिकारिक सूत्रों की मानें तो नये टमिर्नल के तैयार होने के बाद 12 छोटे-बड़े जहाज यहां एक साथ खड़े हो सकेंगे.

300 करोड़ रुपए होंगे खर्च

एक्सटेंशन को लेकर कई प्रस्तावों पर एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने मंजूरी दे दी है. एक्टेंशन वर्क में करीब 300 करोड़ रुपये का खर्च आने का अनुमान है. बताया जा रहा है कि एक्सटेंशन वर्क 2 वर्ष तक चलेगा.

-------------

पिथौरागढ़ व गौचर रनवे जुड़ेंगे

राज्य में अगले माह शुरू हो रही इनवेस्टर्स समिट के दौरान उड़ान योजना से राज्य के छोटे एयरपो‌र्ट्स को जोड़ने की तैयारी है. एयरपोर्ट के अधिकारियों के अनुसार अक्टूबर पहले सप्ताह में पिथौगराढ़ व गौचर के लिए जौलीग्रांट एयरपोर्ट से सेवाएं शुरू कर दी जाएंगी.