-प्रताड़ना से तंग सहयोगी कर्मचारी ने ली जान

-फरार जूनियर के खिलाफ नामजद एफआईआर

GORAKHPUR: शाहपुर के आवास विकास कॉलोनी में मार्केटिंग कंपनी के ट्रेनर के मर्डर में पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज किया. सिर सहित बदन के अन्य हिस्सों में गंभीर चोट के निशान पाए गए थे. ट्रेनर के पिता की तहरीर पर पुलिस ने फरार चल रहे कर्मचारी को नामजद किया है. पुलिस की जांच में सामने आया है कि टारगेट पूरा न होने पर ट्रेन अपने जूनियर्स को प्रताडि़त करता था. रात में वह जमकर टार्चर करता था. इससे सभी जूनियर काफी परेशान हो गए थे. कंपनी के ऑफिस में अक्सर मारपीट और झगड़े की बात सामने आई है. हिरासत में लिए गए कर्मचारियों ने पुलिस को बताया कि सामान न बिकने पर कई बार ट्रेनर ने आरोपित को पीटा था.

आवास विकास कालोनी में हुई थी घटना

शाहपुर के आवास विकास कॉलोनी में मार्केटिंग कंपनी आर्डियल मर्चेन्डाइजिंग इंडिया का ऑफिस किराए के फ्लैट में चलता है. राजस्थान, झालावाड़ जिले के संगरिया का बजरंगी सिंह (32) कंपनी में ट्रेनर और सेल्स मैनेजर थे. कंपनी में काम करने वाली एक युवती और तीन युवक सेल्स मैनेजर के बगल के कमरे में रहते थे. तीनों अलग- अलग कमरों में फर्श पर सो जाते थे. शुक्रवार की सुबह बजरंगी सिंह की डेड बॉडी फर्श पर मिली. उसके सिर सहित बदन के कई हिस्सों में गंभीर चोट के ि1नशान थे.

कम सामान बिकने पर होता था झगड़ा

पुलिस पहुंची तो हत्या की आशंका में जांच शुरू हो गई. छानबीन में सामने आया कि बजरंगी के साथ काम करने वाला बिहार के गया राहीन बिगहा के चाकंद का संजीत यादव फरार है. तीन अन्य आरोपियों को हिरासत में लेकर पुलिस ने पूछताछ शुरू कर दी. पहले तो कर्मचारी कुछ भी बताने से इंकार करते रहे. बाद में कर्मचारियों ने पुलिस को बताया कि बजरंगी सिंह काफी निर्ममता से पेश आता था. कंपनी सामान न बिकने पर वह संजीत को प्रताडि़त करता था. अक्सर उसकी पिटाई कर देता था. इस बात को लेकर अक्सर दोनों के बीच विवाद होता रहता था. कई बार संजीत बिना सामान बेचे लौट आता था. गुरुवार की रात भी टारगेट पूरा करने की बात को लेकर विवाद हुआ. तब रॉड से हमला कर संजीत कहीं भाग गया. बजरंगी के पिता मनोहर की तहरीर पर आरोपित के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज कर िलया.

वर्जन

आरोपित की तलाश में पुलिस की एक टीम बिहार रवाना की गई है. जल्द उसे पकड़ लिया जाएगा. कंपनी कर्मचारियों के बीच विवाद की सामने आई है. हत्या अभियुक्त के पकड़े जाने के बाद सारी हकीकत सामने आ जाएगी.

शलभ माथुर, एसएसपी