-मंगलवार रात सैकड़ों सीनियर्स ने जूनियर्स के हॉस्टल में बोला धावा, गाली-गलौच अभद्रता के साथ सामूहिक मुर्गा बनाया

-विरोध करने वाले छात्रों को जमकर पीटा, तीन स्टूडेंट्स घायल, एक का सिर फटा, बीच-बचाव करने वाले गार्ड का पैर तोड़ा

---------------------

-किसानों के लिए बने गेस्ट हाउस में रखा गया है नए स्टूडेंट्स को

-रात 12 सीनियर्स ने बोला धावा तो जूनियर्स ने मिलकर खदेड़ दिया

- सुबह 4 बजे बड़ी संख्या में सीनियर्स ने एक साथ फिर किया हमला

- एयरकंडीशन्ड गेस्ट हाउस का शीशा तोड़कर अंदर घुसे सीनियर्स

= डोसा ने 14 वॉर्डेन को मामले की जांच सोैंपी,एक हफ्ते में देगी रिपोर्ट

- सभी आरोपी सीनियर्स को तत्काल कैंपस से कर दिया गया सस्पेंड

- वीसी बोले, आरोपी छात्रों से तोड़फोड़ से हुए नुकसान की होगी वसूली

- पेरेंट्स के साथ आकर शपथ देने के बाद ही छात्रों को लेंगे वापस

द्मड्डठ्ठश्चह्वह्म@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

यन्हृक्कक्त्र: अपने रिसर्च वर्क और खेती की अत्याधुनिक तकनीक इजाद करने के लिए मशहूर सीएसए एग्रीकल्चर एंड टेक्निकल यूनिवर्सिटी में मंगलवार रात से सुबह तक सीनियर्स ने जमकर बवाल काटा. आधी रात जूनियर्स के हॉस्टल में अचानक धावा बोलकर उनके साथ रैगिंग की. गाली-गलौच, अभद्रता करने के साथ सामूहिक मुर्गा बनाया गया. विरोध करने वालों को जमकर पीटा. बीच-बचाव करने वाले गार्ड को पीटते हुए उसका पैर तोड़ दिया. सीनियर्स यहीं नहीं रुके. उन्होंने हॉस्टल के शीशे तोड़ डाले ओर सिक्योरिटी की जीप को पलटा दिया. सबसे गजब की बात ये रही सीनियर्स पूरी रात तांडव करते रहे और एंटी रैगिंग स्क्वॉयड गायब रहा. बवाल में तीन जूनियर को ज्यादा चोट आई हैं. एक जूनियर छात्र रजनीश का सिर फट गया. घायलों को प्राइवेट हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है.

गेस्ट हाउस में रखा गया

सीएसए यूनिवर्सिटी में इसी साल एडमिशन लेने वाले नए स्टूडेंट्स को अभी उनके हॉस्टल में शिफ्ट नहीं किया गया है. उनके हॉस्टल में अभी सीनियर छात्र ही डेरा डाले हुए हैं. सीनियर के हॉस्टल में रेनोवेशन का काम चल रहा है. करीब 200 जूनियर स्टूडेंट्स को सीएएस प्रशासन ने किसानों के लिए बने हॉस्टल में रखा हुआ है.

पहले राउंड में फेल

मंगलवार की रात करीब 12 बजे एक बार सैकड़ों सीनियर जूनियर के फार्मर हॉस्टल में पहुंच गए तो उन्हें वहां से खदेड़ दिया गया. इसके बाद बुधवार सुबह करीब चार बजे फिर सैकडों सीनियर छात्रों का हुजूम जूनियर के हॉस्टल पहुंच गया. सीनियर्स ने पहले शीशा तोड़कर पीछे के गेट से एंट्री की इसके बाद रिसेप्शन व अन्य कमरों में तोड़फोड़ कर दी. अचानक हुए हमले से जूनियर छात्र घबरा गए और जान बचाकर भागने लगे तो तो सीनियर्स ने घेरकर पकड़ लिया. जमकर अभद्रता और गाली गलौच के बाद जबरन सामूहिक मुर्गा बनाया. जिसने भी विरोध किया उसे जमकर पीटा गया. इस बीच सिक्योरिटी गार्ड रामफल ने विरोध किया तो उसकी भी पिटाई कर दी. जिससे उसका पैर टूट गया. बवाली छात्रों ने सिक्योरिटी की जीप में तोड़फोड़ करते हुए उसे भी पलटा दिया.

वीसी मौके पर पहुंचे

सूचना पाकर सीएसए के प्रशासनिक अधिकारी व वाइस चांसलर मौके पर पहुंच गए. उन्हेंने नवाबगंज पुलिस को कॉल कर लिया. घायल गार्ड व छात्र रजनीश को इलाज के लिए प्राइवेट हास्पिटल में एडमिट कराया गया है. इसके बाद डीन ऑफ स्टूडेंट्स वेलफेयर डॉ. डीआर सिंह ने सभी हास्टल वार्डेन को तलब कर लिया जिन्हें पूरे मामले की जांच कर रिपोर्ट देने को कहा है. शाम तक करीब 14 हॉस्टल वार्डेन मैटर की जांच पड़ताल में जुट गए.

बॉक्स

कहां था नाइट एंटी रैगिंग स्क्वॉयड

24 जुलाई से लेकर 27 जुलाई के बीच नाइट एंटी रैगिंग स्क्वॉयड कहां गायब था. इस स्क्वॉयड की ड्यूटी रात्रि 11 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक थी. इस स्क्वॉयड टीम में डॉ. जितेन्द्र सिंह, डॉ. वाईके सिंह, डॉ. एके सिंह, डॉ. देवेन्द्र कुमार यादव, डॉ. एमजेड सिद्दीकी शामिल हैं. जब सीनियर्स ने धावा बोला तो इस स्क्वॉयड के मेंबर कहां ते और क्या कर रहे थे. इसका जवाब सीएसए प्रशासन को टीम से मांगना चाहिए.

वर्जन

यूनिवर्सिटी कैंपस में रैगिंग कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी. मैटर की जांच के लिए वॉर्डेन की कमेटी बना दी गई है जो एक वीक में अपनी रिपोर्ट देगी. सेकेंड ईयर के सभी स्टूडेंट्स को हॉस्टल से सस्पेंड कर दिया गया है. इनको क्लास में तभी जाने का अवसर मिलेगा जब पेरेंट्स के साथ आकर शपथ पत्र देंगे. यूनिवर्सिटी का जो भी नुकसान हुआ है उसकी भरपाई आरोपी छात्रों से की जाएगी.

-डॉ. सुशील सोलोमन, वीसी सीएसए यूनिवर्सिटी