jamshedpur@inext.co.in
JAMSHEDPUR: कदमा थाना क्षेत्र रामजन्म नगर रोड नंबर दो निवासी जुगल किशोर पांडेय की हत्या सोमवार को उसके दोस्त रतन पाइक ने चाकू घोपकर कर दी. आरोपी ने मृतक की पत्‍‌नी रंजू पांडेय पर भी चाकू से एक दर्जन वार किए. शोर सुनकर आए भाई अखिलेश पांडेय और पिता चंदेश्वर पांडेय के हाथ पर चाकू मार आरोपी भाग निकला. घटना के बाद सभी को टीएमएच में भर्ती कराया गया जहां पर जुगुल किशोर पांडेय की मौत हो गई वहीं पत्‍‌नी रंजू पांडेय की स्थित गंभीर हैं. जबकि भाई और पिता का प्राथमिक उपचार कर घर भेज दिया गया. पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर अरेस्ट करने के लिए टीम लगा दी गई हैं. बता दें कि मर्डर के पीछे प्रेम प्रसंग का मामला था घायल रंजू पांडेय ने बताया कि घटना के समय आरोपी रतन जबरन उसे अपने साथ घर ले जाने का प्रयास कर रहा था। पति के विरोध करने पर रतन ने हत्या कर दी। उसने बताया कि रतन पाइक पहले केबुल कनेक्शन का काम करता था. जबकि पति इलेक्ट्रानिक्स मैकेनिक थे। रतन और पति दोनों अच्छे दोस्त थे. दो वर्षो से रतन का घर में आना-शुरु हुआ था एक बार जब वह घर में अकेली थी तो पति की हत्या की धमकी देकर उसके शारीरिक संबंध बनाया, बाद में ब्लैकमेल कर शारीरिक संबंध बनाने लगा. रंजू ने बताया कि विरोध करने पर मां की हत्या करने की धमकी देने लगा। आरोपी ने मायके में जाकर घर में भी आग लगा दी थी। उस समय हम साकची शीतला मंदिर के पास रहते थे। सोमवार को मैं बच्चे के साथ कमरे में सोई हुई थी तभी आरोपी रतन आया और सोते वक्त ही ताबड़तोड़ चाकू से वार करने लगा. यह देखकर पति दौड़े तो आरोपी ने पेट में चाकू घोंप दिया. जिसके बाद दौड़े देवर और ससुर पर भी चाकू से वार कर आरोपी फरार हो गया. मौके पर पहुंचे सिटी एसपी ने कदमा प्रभारी को जल्द से जल्द आरोपी की गिरफ्तार करने का आदेश दिया.

15 सितंबर को घर में पकड़ा गया था रतन

15 सितंबर को रतन पाइक जुगल किशोर पांडेय की घर की बाथरुम में छुपा हुआ था। उसे जुगल की मां ने देख लिया था। हल्ला मचाया तो जुगल के पिता ने रतन को पकड़कर बाहर निकाला तो वह जुगल की पत्‍‌नी से शादी करने की बात कहने लगा इस पर परिवार वालों ने उसकी पिटाई कर दी। उस दिन रतन ने जुगल की हत्या करने की धमकी दी थी। इसकी शिकायत थाना में किए जाने का आग्रह जुगल की पत्‍‌नी ने ससुर से की, लेकिन शिकायत नही की गई। नतीजा 17 सितंबर को जुगल की हत्या हो गई। उसकी शादी 2009 में हुई थी।

पति के हत्यारे को फांसी हो

जुगल किशोर की पत्‍‌नी चाहती है कि वह पति का अंतिम दर्शन भी नही कर सकी। पति दुनिया में नही रहे। पति के हत्यारे को भी दुनिया में नही रहना चाहिए। उसे फांसी की सजा हो।