ऐसी रफ्तार देखी है कहीं
भारत की सीनियर क्रिकेट टीम साउथ अफ्रीका दौरे पर भले कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पा रही। लेकिन जूनियर टीम ने अंडर-19 वर्ल्‍डकप का आबाज जीत के साथ कर दिया। भारतीय की अंडर-19 टीम ने पहले मैच में ऑस्‍ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम को 100 रन से हरा दिया। इस मैच में जीत के हीरो रहे पृथ्‍वी शॉ, जिन्‍होंने 94 रन की मैचजिताऊ पारी खेली लेकिन सबका ध्‍यान खींच लिया भारत के तेज गेंदबाज कमलेश नागरकोटी ने। नागरकोटी भारत की अंडर19 क्रिकेट टीम के मुख्‍य तेज गेंदबाज हैं और उन्‍होंने अपनी गेंदबाजी की क्षमता दिखा भी दी।
शताब्‍दी एक्‍सप्रेस से भी तेज स्‍पीड में गेंद फेंककर चर्चा में आया 18 साल का यह भारतीय गेंदबाज
गांगुली और सहवाग हुए प्रभावित
नागरकोटी की उम्र अभी 18 साल है लेकिन उन्‍होंने मैच में एक गेंद 146 किमी/घं की स्‍पीड से फेंकी। जिसे देख बड़े-बड़े दिग्‍गज हैरान रह गए। भारत के पूर्व कप्‍तान सौरव गांगुली ने तो मौजूदा कप्‍तान विराट कोहली को ट्वीट कर कह दिया कि इस गेंदबाज पर नजर बनाए रखो। वहीं पूर्व खिलाड़ी वीरेंद्र सहवाग भी इन गेंदबाजों की तारीफ करना नहीं भूले।

Ind vs SA : वनडे में 3 दोहरे शतक लगाने वाले रोहित विदेशी जमीं पर आज तक नहीं लगा पाए टेस्‍ट शतक

ये हैं क्रिकेट इतिहास की 5 सबसे तेज गेंद :

शोएब अख्तर
क्रिकेट हिस्ट्री की सबसे तेज गेंद फेंकने का रिकॉर्ड शोएब अख्तर के ही नाम है। पाकिस्तान ही नहीं पूरी दुनिया में सबसे तेज गेंदबाजी का रिर्कॉड शोएब अख्तर के ही नाम है। शोएब अख्तर की सबसे तेज गेंद की स्पीड थी 161.3 किलोमीटर प्रति घंटा। उन्होंने यह गेंद 2003 विश्वकप में इंग्लैंड के खिलाफ से फेंकी थी।
शताब्‍दी एक्‍सप्रेस से भी तेज स्‍पीड में गेंद फेंककर चर्चा में आया 18 साल का यह भारतीय गेंदबाज
ब्रेट ली
दुनिया के दूसरे सबसे खतरनाक और तेज गेंदबाज रहे हैं ब्रेट ली। ऑस्ट्रेलिया के ब्रेट ली 160 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से भी ज्यादा स्पीड वाली गेंद फेंकने में माहिर थे। ब्रेट ली ने अपने करियर में 221 वनडे मैच में 380 विकेट लिए। आंखो से न दिखाई देने वाली उनकी सबसे तेज गेंद की स्‍पीड थी 161.1 किमी/घंटा/। यह गेंद उन्‍होंने 2005 में न्‍यूजीलैंड के खिलाफ फेंकी थी।
शताब्‍दी एक्‍सप्रेस से भी तेज स्‍पीड में गेंद फेंककर चर्चा में आया 18 साल का यह भारतीय गेंदबाज
शॉन टेट
खतरनाक गेंदबाजी करने वाले बॉलर्स की लिस्‍ट में तीसरा नाम है ऑस्ट्रेलिया के शॉन टेट का। टेट का करियर इंटरनेशनल क्रिकेट में बहुत लंबा नहीं रहा। उन्होंने सिर्फ 35 वनडे मैच खेले जिसमें उन्होंने 61 विकेट लिए। तेज गेंदबाजी का रिकॉर्ड में शॉन टेट ऑस्ट्रेलिया के ही ब्रेट ली को पूरी टक्‍कर देते हैं, क्‍योंकि उनकी सबसे तेज गेंद की रफ्तार भी 161.1 किमी/घंटा थी।
शताब्‍दी एक्‍सप्रेस से भी तेज स्‍पीड में गेंद फेंककर चर्चा में आया 18 साल का यह भारतीय गेंदबाज
जेफरी थॉमसन
दुनिया के तेज गेंदबाजों में जेफरी थॉमसन का नाम भी काफी मशहूर है। जेफरी थॉमसन भी ऑस्‍ट्रेलिया के ही रहे हैं। उन्होंने 51 टेस्ट मैच खेले जिसमें उन्होंने 200 विकेट लिए। इसके अलावा 50 वनडे मैचेस मे उन्होंने 55 बल्लेबाजों को अपनी बॉल से चकमा देकर पवेलियन वापस भेजा। जेफरी थॉमसन की सबसे तेज गेंद 160.6  किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से फेंकी गई थी।
शताब्‍दी एक्‍सप्रेस से भी तेज स्‍पीड में गेंद फेंककर चर्चा में आया 18 साल का यह भारतीय गेंदबाज
एंडी रॉबर्ट्स
वेस्टइंडीज के जाने-माने गेंदबाज एंडी रॉबर्ट्स भी अपनी खतरनाक गेंदबाजी के लिए दुनिया में फेमस रहे हैं। क्रिकेट में अपने करियर के दौरान 55 वनडे मैचेस में एंडी ने 87 विकेट लिए जबकि 47 टेस्ट मैच इसमें उन्होंने 202 विकेट चटकाए। एंडी रॉबर्ट्स की सबसे तेज  गेंद 159.5 किमी/घंटा की स्पीड से फेंकी गई थी।
शताब्‍दी एक्‍सप्रेस से भी तेज स्‍पीड में गेंद फेंककर चर्चा में आया 18 साल का यह भारतीय गेंदबाज

Cricket News inextlive from Cricket News Desk