features@inext.co.in 

KANPUR: कंगना इन दिनों अपनी अपकमिंग फिल्म मणिकर्णिका को लेकर बिजी हैं और इस इवेंट में उन्होंने सदगुरु से फिल्म के उस सीन के बारे में बात की जिसमें एक गाय का बछड़ा शामिल है। इस मौके पर कंगना ने कहा कि ये बहुत ही दुखद है कि देश में लोग गायों के नाम पर लोगों की हत्या कर रहे हैं। इनफैक्ट, वह एनिमल प्रोटेक्शन की भी वकालत करती नजर आईं। 
एक सवाल में जब उनसे पूछा गया कि लिंचिंग के बारे में उनका क्या कहना है तो उन्होंने जवाब दिया, 'ऐसा लगता है कि जैसे न जाने क्या हो रहा है और कितना स्ट्रगल करना है। आप जानवरों को बचाना चाहते हैं लेकिन जब लिंचिंग जैसी घटना होती है तो दिल दुखने लगता है ये सोचकर कि आखिर हो क्या रहा है। ये गलत हो रहा है।' 
जरूरी है एनिमल प्रोटेक्शन
अपनी फिल्म के सीन के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, 'फिल्म में सीन था जहां मेरा कैरेक्टर एक गाय के बच्चे को बचाता है। इस पर मेरे क्रू ने काफी डिसकशन किया। हमने शूट भी रोका। उन्होंने कहा कि हम गाय को नहीं बचा सकते क्योंकि हम ऐसा पोट्रे नहीं करना चाहते कि हम गायों को बचाने वाले हैं। लेकिन फिर मुझे लगा कि हम ऐसा क्यों सोच रहे हैं। क्यों हम एनिमल प्रोटेक्शन के लिए कुछ नहीं कर रहे।' 
इंडस्ट्री पर निशाना साधा
कंगना ने देश के आर्टिस्ट्स पर यह आरोप लगाया है कि वह देश के इंपॉर्टेंट सब्जेक्ट्स पर अपनी राय रखने के बजाय कन्नी काटते नजर आते हैं। उन्होंने कहा, 'हम फिल्म सेलिब्रिटीज से ऐसे चीजों की एक्सपेक्टेशंस नहीं होती हैं। सक्सेसफुल आर्टिस्ट्स का हरदम यह कहना कि हम कॉन्ट्रोवर्शियल सŽजेक्ट्स पर अपनी बात नहीं रखेंगे क्योंकि बात रखेंगे तो मुश्किल में पड़ जाएंगे, गलत है।' 
उन्हें यह सोचना चाहिए कि वे लोग,जो अपने पीछे 25 कैमरे लिए कहीं भी पहुंच जाते हैं, अगर इन सŽजेक्ट्स पर बात नहीं करेंगे तो कौन बात करेगा। अगर सक्सेसफुल आर्टिस्ट्स देश की समस्या पर बात नहीं कर सकते तो आप सफल कैसे हुए? फिर ऐसी सक्सेस का क्या फायदा? आपके पैसे कमाने, खाने-पीने और मस्ती करने को ही क्या सफल होना कहते है?
करनी चाहिए चर्चा
'मुझे लगता है आर्टिस्ट्स को सफलता की कुर्सी पर जनता ने इसलिए नहीं बैठाया है कि वह उनकी छोटी सी जिंदगी को जी कर चलते बने बल्कि जनता ने आपको सक्सेसफुल इसलिए भी बनाया है कि आप उनकी और उनकी समस्याओं पर बात करें। हमें हर मामले पर अपनी राय बेबाकी से रखनी चाहिए। मेरे एक सह कलाकार ने यह भी कहा था कि उन्हें कोई पानी-बिजली की समस्या नहीं है, तो वह क्यों इन मुद्दों पर चर्चा करें। ये बड़ी गलत बात है।' 

features@inext.co.in 

KANPUR: कंगना रनौत इन दिनों अपनी अपकमिंग फिल्म मणिकर्णिका को लेकर बिजी हैं और इस इवेंट में उन्होंने सदगुरु से फिल्म के उस सीन के बारे में बात की जिसमें एक गाय का बछड़ा शामिल है। इस मौके पर कंगना ने कहा कि ये बहुत ही दुखद है कि देश में लोग गायों के नाम पर लोगों की हत्या कर रहे हैं। इनफैक्ट, वह एनिमल प्रोटेक्शन की भी वकालत करती नजर आईं। 

एक सवाल में जब उनसे पूछा गया कि लिंचिंग के बारे में उनका क्या कहना है तो उन्होंने जवाब दिया, 'ऐसा लगता है कि जैसे न जाने क्या हो रहा है और कितना स्ट्रगल करना है। आप जानवरों को बचाना चाहते हैं लेकिन जब लिंचिंग जैसी घटना होती है तो दिल दुखने लगता है ये सोचकर कि आखिर हो क्या रहा है। ये गलत हो रहा है।' 

जरूरी है एनिमल प्रोटेक्शन

अपनी फिल्म के सीन के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, 'फिल्म में सीन था जहां मेरा कैरेक्टर एक गाय के बच्चे को बचाता है। इस पर मेरे क्रू ने काफी डिसकशन किया। हमने शूट भी रोका। उन्होंने कहा कि हम गाय को नहीं बचा सकते क्योंकि हम ऐसा पोट्रे नहीं करना चाहते कि हम गायों को बचाने वाले हैं। लेकिन फिर मुझे लगा कि हम ऐसा क्यों सोच रहे हैं। क्यों हम एनिमल प्रोटेक्शन के लिए कुछ नहीं कर रहे।' 

इंडस्ट्री पर निशाना साधा

कंगना ने इस बात के लिए फिल्म इंडस्ट्री पर साधा निशाना

कंगना ने देश के आर्टिस्ट्स पर यह आरोप लगाया है कि वह देश के इंपॉर्टेंट सब्जेक्ट्स पर अपनी राय रखने के बजाय कन्नी काटते नजर आते हैं। उन्होंने कहा, 'हम फिल्म सेलिब्रिटीज से ऐसे चीजों की एक्सपेक्टेशंस नहीं होती हैं। सक्सेसफुल आर्टिस्ट्स का हरदम यह कहना कि हम कॉन्ट्रोवर्शियल सŽजेक्ट्स पर अपनी बात नहीं रखेंगे क्योंकि बात रखेंगे तो मुश्किल में पड़ जाएंगे, गलत है।' 

उन्हें यह सोचना चाहिए कि वे लोग,जो अपने पीछे 25 कैमरे लिए कहीं भी पहुंच जाते हैं, अगर इन सŽजेक्ट्स पर बात नहीं करेंगे तो कौन बात करेगा। अगर सक्सेसफुल आर्टिस्ट्स देश की समस्या पर बात नहीं कर सकते तो आप सफल कैसे हुए? फिर ऐसी सक्सेस का क्या फायदा? आपके पैसे कमाने, खाने-पीने और मस्ती करने को ही क्या सफल होना कहते है?

करनी चाहिए चर्चा

'मुझे लगता है आर्टिस्ट्स को सफलता की कुर्सी पर जनता ने इसलिए नहीं बैठाया है कि वह उनकी छोटी सी जिंदगी को जी कर चलते बने बल्कि जनता ने आपको सक्सेसफुल इसलिए भी बनाया है कि आप उनकी और उनकी समस्याओं पर बात करें। हमें हर मामले पर अपनी राय बेबाकी से रखनी चाहिए। मेरे एक सह कलाकार ने यह भी कहा था कि उन्हें कोई पानी-बिजली की समस्या नहीं है, तो वह क्यों इन मुद्दों पर चर्चा करें। ये बड़ी गलत बात है।' 

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk