kanpur@inext.co.in
KANPUR : रीजेंसी हॉस्पिटल में जिंदगी और मौत से लड़ रहे आईपीएस सुरेंद्र दास ने गूगल से सुसाइड करने का तरीका खोजा था। इसका खुलासा उनकी गूगल की ब्राउजिंग हिस्ट्री से हो गया है। उन्होंने सात दिन पहले सुसाइड करने का तरीका खोजा था। इससे साफ है कि आईपीएस सुरेंद्र कई दिनों से परेशान थे। उन्होंने पांच दिन पहले सल्फास भी मंगा लिया था, लेकिन उन्होंने उसको खाया नहीं था। वह किसी तरह कलह को शांत करने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन वह बिगड़े हालातों पर काबू नहीं पा सकें और उनको मजबूरी में यह कदम उठाना पड़ा।

तीन तरीकों में से एक को चुना
पुलिस ने आईपीएस सुरेंद्र के जहरीला पदार्थ खाने के मामले में जांच शुरू कर दी है। पुलिस को आवास पर उनके टूटे मोबाइल मिले है। इससे पुलिस का शक और बढ़ गया कि आवास में कुछ न कुछ जरूर हुआ है। पुलिस ने सबूत जुटाने के लिए आईपीएस सुरेंद्र के गूगल एकाउंट को चेक किया तो उससे आईपीएस के परेशान होने की बात सामने आ गई। गूगल हिस्ट्री से पता चला कि आईपीएस ने सात दिन पहले गूगल में सुसाइड करने के तरीके को खोजा था। जिसमें उन्होंने तीन तरीकों ब्लेड, फांसी और जहरीला पदार्थ के बारे में डिटेल में जानकारी ली थी। पुलिस का मानना है कि आईपीएस खुद को दर्द देना नहीं चाहते थे। उनको गूगल से पता चला कि ब्लेड से नस काटने और फांसी में काफी दर्द होता है। इसके चलते उन्होंने जहरीला पदार्थ खाने का मन बना लिया। उन्होंने सल्फास के बारे में भी गूगल में काफी सर्च किया था। इससे पुलिस का कहना है कि आईपीएस ने गूगल में जहरीले पदार्थ के बारे में भी डिटेल से जानकारी करने के बाद सल्फास को मंगवाया था।

कानपुर एसपी सुरेंद्र दास का नानवेज खाने को लेकर पत्‍नी से हुआ था झगड़ा

हालात से बेबस होकर कदम उठाया
आईपीएस सुरेंद्र कई दिनों से परेशान चल रहे थे, लेकिन वह हालात को सुधारने की कोशिश कर रहे थे। तभी उन्होंने जहरीला पदार्थ मंगाने के बाद नहीं खाया। बल्कि उनको भरोसा था कि कलह शांत हो जाएगी और उनको इस तरह का कोई कदम नहीं उठाना पड़ेगा। वह हालातों से लड़ रहे थे, लेकिन वह कलह को शांत नहीं कर पाए। मंगलवार रात जब उनको यकीन हो गया कि वह किसी भी तरह कलह को शांत नहीं कर पाएंगे तो उन्होंने जहरीला पदार्थ खा लिया।

पत्नी को 'आई लव यू' कहकर कानपुर एसपी ने खाया जहर, पढ़ें क्या-क्या लिखा सुसाइड लेटर में

सुसाइड का प्रयास करने वाले कानपुर एसपी सुरेंद्र दास की हालत में सुधार नहीं : अस्‍पताल

Crime News inextlive from Crime News Desk