जीवन अस्त-व्यस्त हो गया
मोतिहारी के सुशील कुमार 2011 में शो कौन बनेगा करोड़पति में विनर रहे हैं. उन्‍हें अमिताभ बच्‍चन ने अपने हाथ से 5 करोड़ रुपये का चेक दिया था. उस समय वह मीडिया में छाये रहे. सुशील एक साधारण इंसान से पूरे देश में चर्चित हो गए. उसके बाद धीरे धीरे सब सामान्‍य हो गया, लेकिन अब फिर अचानक से सुशील का नाम चर्चा में आ गया है. इस बार वह खुशी में नहीं बल्‍िक परेशानी में हैं. इस समय सुशील कुमार के पास कोई नौकरी भी नहीं है. जिसके कारण उनका जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. कुछ समय के लिए मोतिहारी में कम्प्यूटर ऑपरेटर रह चुके सुशील कुमार इन दिनों बेरोजगार हैं. अब तो उनके हालात यह है कि वह बहुत परेशान है कि किस तरह से उनके पास पैसे आए और वह जॉब करें. केबीसी में आने से पहले वह ग्रामीण विकास मंत्रालय की रोजगार सृजन योजना मनरेगा के तहत छह हजार रुपए महीना कमाते थे.

बिजनेस खड़ा करने में लगा दिया
गौरतलब है कि केबीसी जीतने के बाद उन्हें ग्रामीण विकास मंत्रालय की ओर से ब्रांड अंबेसडर बनने का आमंत्रण मिला था. इस शो में सुशील कुमार को जीते 5 करोड़ रुपये में इनकम टैक्स कटने के बाद 3.6 करोड़ रुपये मिले थे. जिसमें कुछ पैसे उन्‍होंने अपने जर्जर पुश्तैनी मकान को बनाने में लगा दिया. इसके अलावा कुछ पैसा भाइयों के बिजनेस खड़ा करने में लगा दिया. ऐसे में बस अब जो थोड़े से पैसे बैंक में है, उसी के ब्‍याज से परिवार का खर्च चल रहा है. सुशील का कहना है कि जॉब और पैसे न होने से उनका सिविल सेवा परीक्षा का अधूरा रह गया है. वह दिल्‍ली जाकर पढ़ाई करना चाहते थे.

Hindi News from Television News Desk