-हवाई सेवा से केदारनाथ आने वाले यात्री अब तक करते रहे हैं वीआईपी दर्शन

डीएम के निर्देश के बाद हवाई कंपनियों के सामने खड़ी हुई मुश्किल

RUDRAPRYAG: अब हवाई यात्रियों को भी लाइन में लग कर बाबा केदार ने दर्शन करने होंगे. केदारनाथ में वीआईपी दर्शन प्रोटोकॉल के दायरे में ही कराने संबंधी डीएम के निर्देश के बाद हवाई कंपनियों के सामने मुश्किलें खड़ी हो गई हैं. अब तक हवाई सेवा से केदारनाथ जाने वाले यात्री वीआईपी दर्शन करते रहे हैं, लेकिन अब उन्हें आम यात्रियों के साथ लाइन में ही खड़ा होना पड़ेगा.

प्रोटोकॉल वाले ही करेंगे वीआईपी दर्शन

डीएम रंजना ने केदारनाथ धाम में वीआईपी दर्शन की आड़ में गलत तरीके से दर्शन करने की शिकायत पर कड़ा रुख अपनाया है. उन्होंने निर्देश दिए हैं कि धाम में वीआईपी दर्शन वही करेगा, जो प्रोटोकाल के अंतर्गत आता हो. आमतौर पर हवाई सेवा से आने वाले यात्री श्री बदरी-केदार मंदिर समिति के कार्यालय की तरफ वाले दरवाजे से मंदिर में दर्शनों के लिए जाते हैं. जबकि आम भक्तों को दर्शनों के लिए मुख्य द्वार पर घंटों इंतजार करना पड़ता है. इससे कई बार तो यात्रियों व पुलिस के बीच झड़प तक हो जाती है.

सेवाओं पर पड़ेगा असर

हालांकि, इससे हवाई सेवाओं से आने वाले यात्रियों के सामने मुश्किल खड़ी हो गई है. कारण, इन यात्रियों को लाइन में खड़ा न कर सीधे वीआईपी गेट से दर्शन कराये जाते हैं. इसके एवज में प्रत्येक यात्री से हवाई कंपनी एक हजार रुपये लेती है. यह राशि मंदिर समिति के खाते में जाती है. लेकिन, डीएम के निर्देशों के बाद हवाई कंपनियों को यात्रियों के लिए घंटों रुकना पड़ेगा. इससे कंपनियों का शिड्यूल गड़बड़ाना तय है. इसका असर उनकी कमाई पर भी पड़ेगा.