dehradun@inext.co.in
DEHRADUN: लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण की वोटिंग से ठीक एक दिन पहले शनिवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने केदारनाथ धाम के दर्शन किए। उन्होंने गर्भगृह में रुद्राभिषेक किया और फिर मंदिर की प्रक्रिमा कर दोपहर बाद दो बजे साधना के लिए मंदिर के करीब डेढ़ किलोमीटर दून एकांत में चले गए। केदारनाथ में पुनर्निर्माण कार्यो का भी उन्होंने इंस्पेक्शन किया।

गर्भगृह में किया रुद्राभिषेक
पीएम मोदी शनिवार को हेलीकॉप्टर सुबह साढ़े नौ बजे केदारनाथ पहुंचे। हेलीपैड से सीधे वे मंदिर पहुंचे और पूजा अर्चना की। गर्भगृह में केदारनाथ के मुख्य पुजारी केदार लिंग और वेदपाठी ओंकारनाथ शुक्ला ने रुद्राभिषेक का अनुष्ठान संपन्न कराया। इसके बाद पीएम ने नंदी की प्रतिमा का पूजन किया और फिर मंदिर परिसर की परिक्रमा। इससे पहले सुबह पीएम दून के जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचे थे, जहां गवर्नर बेबी रानी मौर्य और पीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उनका स्वागत किया।

साधना के लिए 1 किमी पैदल चले
मंदिर में पूजा अर्चना के बाद पीएम ने पुनर्निर्माण कार्यो का इंस्पेक्शन किया। सेफ हाउस में कुछ देर रुकने के बाद दोपहर 1.40 पर वे साधना के लिए करीब एक किमी पैदल चल एकांत में पहुंचे। केदारनाथ मंदिर को चोराबाड़ी ग्लेशियर से जोड़ने वाले प्वॉइंट पर एक गुफा में वे साधना में लीन हो गए।

वेशभूषा को लेकर हो रही पीएम की चर्चा
पीएम नरेन्द्र मोदी की केदारनाथ दर्शन के समय वाली वेशभूषा में धर्म, संस्कृति और परंपराओं की झलक चर्चा में रही। मोदी ने बंगाली पहनावे वाला रविन्द्रनाथ टैगोर जैसा जोबा पहनकर हिमाचली टोपी लगायी। गले में रुद्राक्ष की माला पहने पीएम महाकाल के भक्त जैसी मुद्रा में हाथ में डंडी लिए भगवा कमरबंद बांध किसी योगी सा स्वरूप धरे बाघम्बरी दुशाला लपेटकर बाबा केदार के दर्शन करने पहुंचे। उनकी वेशभूषा पर केदारघाटी से चली चर्चा शाम होते होते सोशल मीडिया पर छा गई। पीएम सुबह देहरादून एयरपोर्ट पर पहुंचे तो सामान्य कपड़ों में थे। यहां से सेना के स्पेशल हेलीकॉप्टर में केदारघाटी पहुंचे। वहां सेफहाउस से ही वे धर्म-संस्कृति की झलक वाले वस्त्र पहनकर केदारनाथ मंदिर के लिए रवाना हुए। दर्शन पूजा और परिक्रमा के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी का पहनावा चर्चा में रहा। गौरतलब है कि आज लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण का मतदान है। पं। बंगाल, एमपी के इंदौर-उज्जैन रीजन, हिमाचल प्रदेश, उत्तरप्रदेश के गोरखपुर क्षेत्र सहित पंजाब, चंडीगढ़, बिहार, झारखंड में इलेक्शन हैं। उनके पहनावे को इन राज्यों की संस्कृति से जोड़कर भी चर्चाएं हैं।